मुख्यपृष्ठनए समाचार‘घातियों’ का ‘उल्टा’ कामकाज!

‘घातियों’ का ‘उल्टा’ कामकाज!

-पालकमंत्री, केंद्रीय मंत्री की मौजूदगी में तिरंगे का हुआ अपमान

-देशभक्तों में फैली नाराजगी

सामना संवाददाता / मुंबई

राज्य में जहां अराजकता का दौर जारी है, वहीं अब ‘घाती’ सरकार का एक और उल्टा कामकाज सामने आया है। केंद्र सरकार द्वारा प्रायोजित आयुष्मान भारत योजना के तहत ठाणे जिले के काल्हेर में आयोजित ‘संकल्प यात्रा’ कार्यक्रम में पालक मंत्री शंभुराज देसाई और केंद्रीय मंत्री कपिल पाटील की उपस्थिति में तिरंगे का अपमान किया गया। कार्यक्रम के लिए लगाए गए बड़े-बड़े बैनरों और स्क्रीनों पर देश का झंडा उल्टा फहराया गया। चौंकानेवाली बात यह है कि इस बात पर मंच पर और मंच के सामने बैठे किसी भी व्यक्ति का ध्यान नहीं गया। इससे देशभक्तों में आक्रोश का माहौल है। उल्लेखनीय है कि तिरंगे को फहराने के कुछ नियम हैं। इसके मुताबिक तिरंगा झंडा ऊन, सूत, रेशम या खादी से बना होना चाहिए। झंडा आयताकार होना चाहिए। लंबाई और चौड़ाई का अनुपात ३:२ होना चाहिए। झंडे को नारंगी रंग नीचे की ओर करके नहीं फहराना चाहिए। लेकिन काल्हेर में हुए कार्यक्रम में बैनर पर ऊपर हरा और नीचे नारंगी रंग वाला झंडा फहराया गया।

अन्य समाचार