मुख्यपृष्ठखेलओह माय गॉड! ज्योतिष की सलाह पर टीम का चयन!! ... मोदी...

ओह माय गॉड! ज्योतिष की सलाह पर टीम का चयन!! … मोदी राज में खेल पर भी ग्रहों का लगा ग्रहण!

फुटबॉल टीम में कुंडली देखकर हुई थी खिलाड़ियों की नियुक्ति
टाइटल पढ़कर सिर तो थोड़ा चकराया जरूर होगा। लेकिन यह सच है। एक ओर जहां हम चांद पर पहुंच रहे हैं। आधुनिक होने की बातें कर रहे हैं, वहीं दूसरी ओर ज्योतिष, टोने-टोटके, तंत्र-मंत्र पर अटके पड़े हैं। वैसे कई कामों की शुरुआत ज्योतिषी से पूछ कर की जाती है लेकिन आप कल्पना कर सकते हैं कि किसी टीम के सिलेक्शन के लिए ज्योतिष का सहारा लिया गया हो? नहीं ना…! लेकिन दुर्भाग्यवश ये सच है। मोदी के राज में अब तो खेल पर `ग्रहों’ का ग्रहण लगता नजर आ रहा है। दरअसल, हाल ही में भारतीय फुटबॉल टीम को लेकर एक बड़ा और चौंकानेवाला खुलासा हुआ है। यहां खिलाड़ियों की कुंडली देखकर खिलाड़ियों का सिलेक्शन किया जा रहा है। इसका तो यही अर्थ निकलता है कि अब फुटबॉल की टीम ज्योतिष के भरोसे है। वैसे किसी टीम में किस खिलाड़ी को लेना है इसका पैâसला कोच के हाथों में होता है। इसके साथ ही प्लेयर्स के अच्छे प्रदर्शन और फिटनेस को ध्यान में रखकर कोच किसी भी खिलाड़ी को टीम में जगह देता है। वहीं भारतीय फुटबॉल टीम में खिलाड़ी की कुंडली का हाल जानकर ही खेलने का मौका मिल रहा है। दरअसल, टीम में शामिल होने के लिए फिटनेस के साथ-साथ प्लेयर्स के ग्रह-नक्षत्र भी ठीक होने चाहिए। जिनके सितारे गर्दिश में होंगे उन्हें टीम में मौका नहीं मिलेगा। ये पढ़कर पैंâस और आप भी आश्चर्यचकित हो गए होंगे। एक रिपोर्ट के मुताबिक, भारतीय फुटबॉल टीम के कोच इगोर स्टिमक ने पिछले साल कई मैचों में टीम में खिलाड़ियों को चुनने के लिए प्रोफेशनल ज्योतिषी भूपेश शर्मा की मदद ली थी। इतना ही नहीं, ज्योतिषी ने प्लेयर्स के ग्रह-नक्षत्रों की चाल ठीक होने पर भारतीय फुटबॉल टीम में खेलने का मौका दिया। रिपोर्ट के मुताबिक, बीते साल जून में एशियन कप क्वॉलिफायर में अफगानिस्तान के विरुद्ध मुकाबले से ४८ घंटे पहले टीम के कोच स्टिमक ने एस्ट्रोलॉजर भूपेश शर्मा को प्लेइंग ११ खिलाड़ियों के नाम की लिस्ट भी भेजी थी। जानकारी ये भी है कि एस्ट्रोलॉजर ने कुछ प्लेयर्स के नाम के सामने कमेंट भी किया था कि कौन अच्छा प्रदर्शन करेगा और कौन नहीं? इसके अलावा जिन खिलाड़ियों को टीम में शामिल किया जाना चाहिए उसके लिए रेड सिग्नल का इस्तेमाल किया गया था।

अन्य समाचार