मुख्यपृष्ठनए समाचारनई मुंबई में एक सौ एकड़ जमीन आभूषण उद्योग के लिए आवंटित!...उद्योगमंत्री...

नई मुंबई में एक सौ एकड़ जमीन आभूषण उद्योग के लिए आवंटित!…उद्योगमंत्री सुभाष देसाई का व्यवसायियों को आश्वासन

•  लगाए जाएंगे एक हजार उद्योग
• डेढ़ लाख रोजगार होंगे उपलब्ध
• ज्वेलरी मशीन क्लस्टर के लिए सरकार देगी मदद
सामना संवाददाता / मुंबई । नई मुंबई में एक सौ एकड़ जमीन रत्न और आभूषण उद्योग के लिए आवंटित की गई है। इस संबंध में करार हो गया है। ऐसे में यहां करीब एक हजार उद्योग लगाए जाएंगे और डेढ़ लाख रोजगार उपलब्ध होंगे। इसके अलावा, लाखों अप्रत्यक्ष रोजगार उपलब्ध होंगे। वहीं, देश का सबसे बड़ा व खूबसूरत पार्क बनाया जाएगा। यह बात उद्योग मंत्री सुभाष देसाई ने कही। विश्व स्तर पर, भारतीय कारीगरों ने रत्न और आभूषण के क्षेत्र में उत्कृष्ट प्रदर्शन किया है।
कीमती रत्नों की बिक्री में भारत हमेशा से अग्रणी रहा है। भारतीय कारीगरों के कौशल की पूरी दुनिया में मांग है। इस कला को इन कारीगरों ने पारंपरिक व्यवसायों के माध्यम से जीवित रखा है। इस क्षेत्र में हमारी पारंपरिक डिजाइन और कलात्मकता से कोई भी मुकाबला नहीं कर सकता है, ऐसा उन्होंने इस मौके पर कहा। कला कारीगरों के हाथ में होती है। मशीनों को कारीगरों की मदद के लिए उपयोगी होना चाहिए, उन्हें अपने काम के विकास में सहयोगी होना चाहिए, मेहनत कम हो परंतु उनका शिल्प कौशल जीवित रहना चाहिए, ऐसी अपेक्षा देसाई ने व्यक्त की। उन्होंने आगे कहा कि जेम्स एंड ज्वेलरी व्यवसायियों को एकत्रित आकर मशीनरी का क्लस्टर तैयार करना है तो उद्योग विभाग की ओर से सभी प्रकार की मदद की जाएगी। इसके लिए वरिष्ठ स्तर पर बैठक लेकर निर्देश दिया जाएगा। गोरेगांव के नेस्को एग्जिबिशन ग्राउंड में ‘ज्वैलरी मशीनरी एंड एलाइड इंटरनेशनल एक्सपो प्रोडक्ट एंड एक्सपो’ शीर्षक से एक प्रदर्शनी का आयोजन किया गया है। इस प्रदर्शनी का कल उन्होंने दौरा किया। इस अवसर पर देसाई ने उक्त बातें कहीं। यह प्रदर्शनी ५ से ८ अप्रैल तक चलेगी। यहां आपको आभूषण बनाने के लिए आवश्यक मशीनों के साथ-साथ अन्य सुविधाओं के बारे में जानकारी मिलेगी। प्रदर्शनी में भाग लेनेवाले सभी प्रतिभागियों को बधाई देते हुए देसाई ने कहा कि प्रदर्शनी में शामिल लोग इस क्षेत्र को नई दिशा देंगे।

अन्य समाचार