मुख्यपृष्ठटॉप समाचारकल्याण लोकसभा चुनाव क्षेत्र में धमाकेदार दौरा, शाखाओं में मुलाकात, शिवसैनिकों से...

कल्याण लोकसभा चुनाव क्षेत्र में धमाकेदार दौरा, शाखाओं में मुलाकात, शिवसैनिकों से साधा संवाद, हजारों की भीड़, दमदार और शानदार स्वागत… ओपन चैलेंज! चोरों के हाथ में धनुष-बाण, शिवसैनिकों के हाथ में मशाल, … चलो, हो जाने दो! … गद्दार वंशवादी के बेटे पर चोट करने आया हूं…उद्धव ठाकरे का जोरदार हमला

सामना संवाददाता / कल्याण
मकर संक्रांति तो रविवार से है, लेकिन दो दिन पहले से ही महाराष्ट्र में तिलगुड़ के लड्डू बंटने लगे हैं और मीठी-मीठी बातें शुरू हो गई हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का महाराष्ट्र दौरा शुरू हो गया है। वे महाराष्ट्र भी आए, इसी माह फिर आएंगे, क्योंकि चुनाव नजदीक हैं। इस तरह का तीखा व्यंग्य करते हुए शिवसेना (उद्धव बालासाहेब ठाकरे) पक्षप्रमुख उद्धव ठाकरे ने पीएम मोदी को फटकार लगाई। उन्होंने कहा कि मोदी को चुनाव के लिए महाराष्ट्र की जरूरत होती है, लेकिन बिजनेस और व्यापार के लिए गुजरात की याद आती है। इसके साथ ही उन्होंने ओपन चैलेंज देते हुए कहा कि पक्ष चोरी करनेवालों का क्या करना है, यह सभी को पता ही है। चोरों के हाथों में धनुष-बाण है और शिवसैनिकों के हाथों में मशाल है। चलो, हो जाने दो!
उद्धव ठाकरे ने कल कल्याण लोकसभा क्षेत्र का दौरा किया। इस दौरान क्षेत्र में शिवसेना की विभिन्न शाखाओं का दौरा करते हुए उन्होंने शिवसैनिकों से बातचीत की। मीडिया से बातचीत में उन्होंने मोदी के महाराष्ट्र दौरे, महाराष्ट्र के उद्योगों को गुजरात की ओर ले जाने, भाजपा की यूज एंड थ्रो पॉलिटिक्स और गद्दार के विश्वासघात पर करारा तंज कसा।
उद्धव ठाकरे ने कल कल्याण लोकसभा क्षेत्र में अंबरनाथ के तिलकनगर, ग्रामीण क्षेत्र में नेवाली, उल्हासनगर, कल्याण (पश्चिम) में कोलसेवाड़ी, डोंबिवली – पूर्व और (पश्चिम), दिवा, मुंब्रा और कल्याण ग्रामीण (कलवा) में शिवसेना शाखाओं का मैराथन दौरा किया। चुनाव क्षेत्र में आने वाली लगभग हर शाखा में उन्होंने जाकर शिवसैनिकों से मुलाकात की और उनसे बातचीत की।

‘शिवसेना जिंदाबाद’, ‘उद्धव साहेब आगे बढ़ो, हम तुम्हारे साथ हैं…’
कल्याण-डोंबिवली के शिवसैनिकों में जबरदस्त उत्साह
कचरे के डिब्बे में फेंक दिए जाएंगे गद्दार!
‘घातियों पर उद्धव ठाकरे का जोरदार प्रहार
इससे पहले कल्याण लोकसभा क्षेत्र की सीमा पर शीलफाटा में शिवसैनिकों ने पटाखे फोड़कर उद्धव ठाकरे का जोरदार स्वागत किया।
प्रधानमंत्री मोदी ने शुक्रवार को नासिक की रैली में भाई-भतीजावाद पर हमला बोला। उसी मुद्दे को उठाते हुए उद्धव ठाकरे ने कहा कि अगर वे सच में वंशवाद के विरोधी हैं तो मोदी इस बार गद्दारों के वंशवाद का टिकट काट देंगे। उन्होंने कहा कि इस्तेमाल करो और फेंक दो, यही भाजपा की नीति है, इसलिए ये गद्दार भी अब कचरे के डिब्बे में फेंक दिए जाएंगे। और यदि नहीं, तो आने वाले चुनाव में जनता उन्हें उस टोकरी में डाल देगी। उन्होंने कहा कि मैं यहां गद्दार वंश की जड़ों पर प्रहार करने आया हूं। उन्हें सिर्फ दफन मत करो बल्कि उन्हें जमीन की गहराई में गाड़ दो, ताकि गद्दारों की संतान दोबारा महाराष्ट्र में अपना सिर न उठा पाएं। गद्दारों को दफनाने के बाद मैं यहां जीत को लेकर पहली सभा अंबरनाथ के शिव मंदिर के सामने करूंगा।
इस मौके पर बोलते हुए उद्धव ठाकरे ने कहा कि अंबरनाथ गद्दारों को दफनाने वाली सीट है। अंबरनाथ हमारे सीताराम भोईर का गांव है। भोईर का मतलब है एक वफादार, निष्ठावान शिवसैनिक। उन्होंने उस समय गद्दारों को सबक सिखाया था। उनसे प्रेरणा ली जा सकती है। कुछ लोग सोचते हैं कि कल्याण लोकसभा उनके बाप की जागीरदारी है, उस समय मैंने वफादारों के बजाय गद्दार वंश को टिकट दिया, वह मेरी गलती थी। मैं उसे अब सुधार रहा हूं…आप भी सुधार करिए। उन्होंने कहा कि ये वो संसदीय क्षेत्र है, जो भगवा से गद्दारी करने वालों को दफनाता है। इसलिए जैसे ही उद्धव ठाकरे ने कहा कि मौजूदा गद्दार भी कचरे की टोकरी में जाएंगे, शिवसैनिकों में उत्साह भर गया और पूरा परिसर ‘शिवसेना जिंदाबाद’, ‘उद्धव साहेब आगे बढ़ो, हम तुम्हारे साथ हैं…’ के जोरदार नारों से गूंज उठा।
मोदी एक दिन पहले महाराष्ट्र में आए और साफ-सफाई कर गए, यहां तक ​​कि कालीन भी साफ हो गए। उन्होंने कहा कि तानाशाही का अंत होने वाला है, लेकिन अब महाराष्ट्र इन्हें ही साफ करेगा। भाजपा और गद्दारों को कचरे की टोकरी में डालने का काम महाराष्ट्र करेगा। इनकी तानाशाही का अंत अवश्य होगा। उद्धव ठाकरे ने संकल्प व्यक्त करते हुए कहा कि २२ जनवरी को जो राम मंदिर खड़ा हो रहा है, उसके उपलक्ष्य में हमने यह पवित्र कार्य करने का संकल्प लिया है।
सावधान रहें… मधुमक्खी के छत्ते पर पत्थर मत फेंकें
उद्धव ठाकरे ने भाजपा को चेतावनी देते हुए कहा कि सावधान रहें…शिवसैनिकों को परेशान न करें, क्योंकि शहद तभी प्राप्त होता है, जब मधुमक्खी का छत्ता अच्छा होता है, जिसका स्वाद आपने आज तक चखा होगा। लेकिन आप जब मधुमक्खी के छत्ते पर पत्थर फेंकेंगे तो क्या होता है, यह महाराष्ट्र की जनता सिखाएगी। याद रखें कि शिवसैनिक आपको दिखाएंगे।
अब मुझसे पहले शिवनेरी चलो…
उद्धव ठाकरे ने कहा कि मैं नासिक के कालाराम मंदिर में भगवान रामचंद्र की आरती करने जा रहा हूं। इसकी घोषणा के बाद कल मोदी कालाराम मंदिर गए। आज मैं घोषणा करता हूं कि यदि संभव हुआ तो मैं २२ तारीख से पहले शिवनेरी जाऊंगा, अब मोदी को मुझसे पहले शिवनेरी जाना चाहिए और महाराष्ट्र की महिमा को सलाम करना चाहिए।
मोदीजी विनती है, अंबरनाथ शिवमंदिर के सामने नाले को जादुई झाड़ू से साफ करें। उन्होंने कहा कि शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हाथ में झाड़ू लेकर कालाराम मंदिर में स्वच्छ जगहों की सफाई की। इसके लिए एक कार्यक्रम का आयोजन किया, जिस पर उद्धव ठाकरे ने कहा कि मोदीजी, मेरी आपसे एक विनती है। अंबरनाथ के शिव मंदिर के सामने भी नाले गंदे हैं कृपया साफ-सफाई करें।

…इसलिए इंडिया की बैठक में नहीं गया
उद्धव ठाकरे ने स्पष्ट किया कि सुनियोजित कार्यक्रम के कारण कल दिल्ली में ‘इंडिया’ की बैठक में उपस्थित नहीं हो सका। ‘इंडिया’ के नाम में ही हमारे देश का नाम है और उसे बचाने के लिए हम एक साथ आए हैं। मीडिया से बोलते हुए उन्होंने कहा कि इसीलिए ही यह आज का कल्याण दौरा है।

अन्य समाचार