मुख्यपृष्ठनए समाचारअनाथ के साथ छल-फरेब, फिर धोखा ... धर्मांतरण और बलात्कार की दर्दनाक...

अनाथ के साथ छल-फरेब, फिर धोखा … धर्मांतरण और बलात्कार की दर्दनाक दास्तां! …आखिर क्यूं बन जाते हैं लोग हैवान

चंद्रकांत दुबे / मीरा रोड
मीरा रोड में एक ऐसी सनसनीखेज वारदात हुई है, जो मानवता को शर्मसार कर रही है। अनाथ बच्ची को गोद लेना तथा उसके साथ अमानवीय व्यवहार, धर्मांतरण तथा बलात्कार जैसी घटना यही दर्शाती है कि क्या लोगों में इंसानियत खत्म होती जा रही है।
बता दें कि यह एक ऐसी बच्ची की दर्दनाक कहानी है, जिसके पिता की एक वर्ष पहले हार्र्ट अटैक से मौत हो गई थी। फिर उसके ६ महीने बाद मां ने भी खुदकुशी कर बच्चों को अनाथ कर दिया। परिवार के लोगों ने भी साथ नहीं दिया तथा उसके चाचा ने बच्चों को अनाथालय भेज दिया।
झूठी हमदर्दी और छल-फरेब
पिड़िता के अनुसार, उसके पूर्व पड़ोसी जो मुस्लिम थे, वे उन्हें अनाथालय से गोद लेने की प्रक्रिया पूरी कर अपने घर मीरा रोड रहने के लिए लेकर आए। शिकायत में पिड़ित ने बताया कि मुस्लिम परिवार जो मेरी नानी के पहचान की थी, उन्होंने कहा कि वो बच्चों को पढ़ाएंगे और उनका अच्छे ढंग से पालन-पोषण करेंगे। एक महीने तक तो वे बच्चों को सही ढंग से रखे, फिर उसके बाद वे उन्हें परेशान करने और मारने-पीटने लगे।
दरगाह पर वशीकरण और धर्मांतरण का खेल
बच्चों की खुशियां ज्यादा दिन तक नहीं रहीं। पिड़ित को फिर इमामबाड़ा दरगाह और हाजी अली दरगाह पर ले जाया गया। वहां उन्हें किसी मौलवी से मिलाया, जहां उन्होंने धागा बांधा और एक बॉटल में पानी पीने के लिए दिया गया। साथ ही नमाज पढ़ने के लिए बाध्य किया जाता था। वहां हिंदू धर्म के विषय में गलत-गलत बातें बताई जाती थीं। उन्हें उत्तन दरगाह भी लेकर गए थे, जहां उनके साथ झाड़-फूंक जैसी क्रिया की जाती थी। मना करने पर खाना-पीना बंद कर दिया जाता था। बच्चों का मुंहबोला मामा रात में उन्हें टच करता तथा अश्लील हरकतें करते रहता था। विरोध करने पर दूरी बना लेता, लेकिन फिर से वही हरकत करने लगता था। वह बच्ची की मां के विषय में भी गलत-गलत बातें करता था।

घर से निकालने की दी जाती थी धमकी
मजबूर पीड़ित लड़की जब भी हैवान की हैवानियत का विरोध करती तो उसे घर से निकालने की धमकी दी जाती थी। बोलने लगे कि तू यहां से चली जा अपने भाई और बहन के साथ नहीं तो घसीट कर बाहर निकाल दी जाएगी। ऐसी तमाम यातनाओं से बच्चों को गुजरना पड़ा। इंसान के रूप में हैवान ने उसके साथ बलात्कार किया, तब सब्र का बांध टूट गया और इंसानियत शर्मसार हो गई। आखिरकार वही हुआ, जिसका उन्हें डर सता रहा था। दो दिन का समय देकर बच्ची को घर से निकाल दिया गया। पीड़िता की शिकायत पर मीरा रोड पुलिस स्टेशन में पॉक्सो एक्ट सहित विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज कर मुख्य आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है तथा अन्य आरोपियों के खिलाफ जांच की जा रही है।

अन्य समाचार