मुख्यपृष्ठनए समाचार...वर्ना मुंबई को भी भुगतना पड़ता मानवीय चूक का खामियाजा! ... मोटरमैन...

…वर्ना मुंबई को भी भुगतना पड़ता मानवीय चूक का खामियाजा! … मोटरमैन ने तोड़ा था लाल सिग्नल

• सीएसएमटी लापरवाही कांड में सुरक्षा खामी का खुलासा
• दो उपनगरीय ट्रेनों के बीच टक्कर की बन गई थी संभावना
सामना संवाददाता / मुंबई
हाल ही में बालाशोर घटना में कई लोगों ने जान गंवाई। इस घटना ने रेलवे कर्मचारियों की गलतियों को दर्शाया था। इसी तरह छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस (सीएसएमटी) पर दो लोकल ट्रेनों का एक लाइन पर इतना करीब होना और रेड सिग्नल क्रॉस करना रेलवे मोटरमैन की गलती को साफ दर्शा रहा है। इस मानवीय चूक का खामियाजा मुंबई को भी भुगतना पड़ सकता था। प्रारंभिक जांच से संकेत मिला है कि कल्याण-सीएसएमटी लोकल ट्रेन के मोटरमैन एसडी श्रीखंडे ने लाल सिग्नल पार कर लिया था।
यह घटना पिछले गुरुवार को दोपहर ३:२० बजे के करीब घटी, जब मोटरमैन एसडी श्रीखंडे के संचालन के अधीन कल्याण-सीएसएमटी लोकल ट्रेन ने लाल सिग्नल की अनदेखी की। चौंकाने वाली बात यह है कि ट्रेन प्लेटफॉर्म नंबर चार की ओर लगभग ७९ मीटर आगे बढ़ गई, जिस पर पहले से ही सीएसएमटी-ठाणे लोकल ट्रेन मौजूद थी। कल्याण-सीएसएमटी लोकल उस समय २९ किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चल रही थी।
अन्य लोकल ट्रेन हुई थी प्रभावित
सीएसएमटी-ठाणे लोकल ट्रेन के मोटरमैन ने तत्परता से आपातकालीन ब्रेक लगाया और दोनों ट्रेनों को टकराने से रोक दिया, जिससे संभावित आपदा टल गई। इसके साथ ही कल्याण-सीएसएमटी लोकल ट्रेन में सहायक चेतावनी प्रणाली (एडब्ल्यूएस) सक्रिय हो गई। इस घटना के कारण प्लेटफॉर्म तीन और चार पर ट्रेनों का संचालन लगभग ४० मिनट के लिए अस्थायी रूप से निलंबित कर दिया गया, जिससे एक दर्जन से अधिक अन्य लोकल ट्रेनें १५ मिनट लेट हो गईं।
मध्य रेलवे ने जांच के लिए कनिष्ठ प्रशासनिक ग्रेड के अधिकारियों की एक समिति बनाई। सूत्रों के अनुसार पूछताछ अभी भी जारी है लेकिन प्रारंभिक निष्कर्षों से संकेत मिला है कि कल्याण-सीएसएमटी लोकल ट्रेन का सिग्नल लाल था, जिसके कारण मोटरमैन की गलती है। इस घटना के परिणामस्वरूप मोटरमैन एसडी श्रीखंडे को आगे की जांच होने तक निलंबित कर दिया गया है। मध्य रेलवे ने यात्री सुरक्षा के प्रति अपनी प्रतिबद्धता दोहराई है और भविष्य में इस तरह की घटनाओं को रोकने के लिए आवश्यक उपाय करने की प्रतिबद्धता जताई है। यह घटना मुंबई के उपनगरीय ट्रेन नेटवर्क की सुरक्षा सुनिश्चित करने में मोटरमैन की महत्वपूर्ण भूमिका की याद दिलाती है।

अन्य समाचार