मुख्यपृष्ठनमस्ते सामनासवाल हमारे : जवाब आपके!

सवाल हमारे : जवाब आपके!

अग्निपथ योजना को लेकर पूरा बवाल मचा हुआ है। अब नेपाल में इस योजना को लेकर भारतीय सेना को झटका लगा है। नेपाल सरकार ने भारतीय सेना के गोरखा जवानों की भर्ती पर रोक लगाने का निर्देश दिया है। केंद्र सरकार की इस योजना से पूरी एक रेजिमेंट पर खतरा मंडराने लगा है।

  • जवानों को कम करना गलत
    केंद्र में जब से भाजपा सरकार आई है तब से ही सरकारी कार्यालयों को निजी बनाया जा रहा है। आज से पहले कभी भी थल सेना से जवानों को नहीं निकाला गया था लेकिन अब केंद्र सरकार मनमानी तरीके से जवानों की नौकरियां छीनने में जुट गई है।
    सबरेश मन्नाडियर, ठाणे
  • गोरखा रेजिमेंट ने लड़ी है कई लड़ाइयां
    थल सेना में आनेवाली गोरखा रेजिमेंट सबसे बहादुर रेजिमेंट गिनी जाती है। कई बड़ी लड़ाइयों में गोरखा रेजिमेंट ने अपना महत्वपूर्ण योगदान दिया है। इस प्रकार इन वीरों को बेरोजगार करना बेहद गलत है।
    सुनील दुबे, ठाणे
  • गोरखा रेजिमेंट का इतिहास न भूले केंद्र
    थल सेना ने हिंदुस्थान के दुश्मनों को कई बार परास्त किया है। गोरखा रेजिमेंट ने कई लड़ाइयों में महत्वपूर्ण योगदान दिया है। ऐसे में गोरखा रेजिमेंट को थल से अलग करने से सेना कमजोर हो सकती है। इसलिए केंद्र को इसका इतिहास नहीं भूलना चाहिए।
    योगेश चौहान, ठाणे
  • बहुत ही चिंताजनक है
    अग्निपथ योजना को लेकर नेपाल की प्रतिक्रिया बहुत ही चिंताजनक है। गोरखा रेजिमेंट में अधिकांश नेपाल मूल के सैनिक होते हैं। जिन्होंने कई बार अपनी वीरता का परिचय दिया है। गोरखा जवानों की सेना में भर्ती पर रोक लगने से पूरी रेजिमेंट प्रभावित होगा। देश की सुरक्षा भी इससे प्रभावित होगी।
    अखिलेश उपाध्याय, भायंदर
  • भारतीय सेना में अभाव महसूस होगा
    आज देश में भाजपा की लोकप्रियता घट रही है। इसका सीधा असर सेना में भर्ती को लेकर मचा बवाल है। अग्निपथ को लेकर मचे कोहराम के बाद अब नेपाल सरकार ने भी रोक लगाने का निर्देश दिया है। नेपाल सरकार द्वारा इस पर प्रतिबंध लगाने के कारण अब गोरखा जैसे मजबूत बटालियन का भारतीय सेना में अभाव महसूस होगा।
    रामविलास यादव, उल्हासनगर
  • हिंदुस्थानी सेना कमजोर होगी
    नेपाल का हिंदुस्थान से लंबे समय से मधुर व दोस्ताना संबंध थे। अचानक ऐसा क्या हुआ कि नेपाल सरकार ने नेपाली समाज को भारतीय सेना में भर्ती पर रोक लगा दी? इस रोक से अब सेना में मजबूत गोरखा बटालियन की कमी महसूस होगी और सेना कमजोर होगी।
    भगवान आगले, बदलापुर
  • आज का सवाल?
    मोदी सरकार केंद्रीय जांच एजेंसियों का बेजा इस्तेमाल करने से बाज नहीं आ रही है। हाल ही में देश में हुए एक सर्वे में भाजपा की लोकप्रियता में गिरावट देखी गई है। अगर भाजपा ने जनता का मूड नहीं समझा तो आगामी चुनाव में उसकी क्या गत हो सकती है, इसका अंदाजा आसानी से लगाया जा सकता है।
    आप क्या सोचते हैं? तुरंत लिखकर भेजें या मोबाइल नं. ९३२४१७६७६९ पर व्हॉट्सऐप करें।

अन्य समाचार