मुख्यपृष्ठसमाचारसवाल हमारे, जवाब आपके?

सवाल हमारे, जवाब आपके?

महाराष्ट्र के आराध्य देव छत्रपति शिवाजी महाराज के खिलाफ भाजपा नेताओं की बेशर्मी बढ़ती ही जा रही है। क्या भाजपा एक सोची-समझी साजिश के तहत महाराष्ट्र को बदनाम कर रही है?
 मानसिक संतुलन बिगड़ा
राज्यपाल कोश्यारी से लेकर भाजपा नेता लाड तक सभी ने छत्रपति शिवाजी महाराज का अपमान किया है। ऐसा लगता है कि भाजपा नेताओं का मानसिक संतुलन बिगड़ गया है। कहावत है कि गीदड़ की मौत आती है तो वह शहर की तरफ भागता है। भाजपा का भी अंत अब निश्चित है।
-महेंद्र कुमार पांडेय, ठाणे

 जीवनी पढ़नी चाहिए
छत्रपति शिवाजी महाराज के बारे में भाजपा नेता बेतुके बयान दे रहे हैं। आए दिन ऐसा बयान देकर वे लोगों के कोप का शिकार हो रहे हैं। उन्हें पहले छत्रपति की जीवनी पढ़नी चाहिए अन्यथा उन्हें अपमान के साथ ही जूते खाने पड़ेंगे।
-सरिता प्रजापती, अंबरनाथ

 भाजपा के नेता अज्ञानी
भाजपा वाले आये दिन अनाप-शनाप बयान दे रहे हैं। ये अज्ञानी नेता आये दिन नई-नई जानकारी की खोज कर उल्टे मुंह गिर रहे हैं। भाजपा के लोगों को छत्रपति शिवाजी महाराज के बारे में बिना तथ्य जाने नहीं बोलना चाहिए।
-शिवबिलास मिश्रा, उल्हासनगर

 जनता सबक सिखाएगी
समाज में वैमनस्य पैâलाने की भाजपाइयों की चाल कामयाब नहीं होगी क्योंकि जनता सब कुछ समझती है। आनेवाले चुनाव में जनता उन्हें सबक सिखाएगी।
-जी.एस. पाटील, नई मुंबई

 अपमान बर्दाश्त नहीं
छत्रपति शिवाजी महाराज का अपमान कभी बर्दाश्त नहीं होगा। ऐसी साजिश रचनेवालों को आज नहीं तो कल इसका फल भुगतना ही पड़ेगा। महाराष्ट्र के सच्चे भूमिपुत्र उन्हें सम्मान देते हैं, वे कभी ऐसे अपमान के बोल नहीं सहेंगे।
-किरण पाटील, नायगांव

 एजेंडे के तहत साजिश
छत्रपति शिवाजी महाराज के खिलाफ भाजपा नेताओं के बिगड़े बोलों से प्रतीत हो रहा है कि भाजपा किसी एजेंडे के तहत इस प्रकार की साजिश रच रही है, जिसका जवाब शिवप्रेमी अवश्य देंगे और उन्हें सबक सिखाएंगे।
-अमित रेडकर, भायंदर

 कोई मुद्दा बचा नहीं
नेताओं के पास अब कोई मुद्दा बचा नहीं तो महाराष्ट्र के आराध्य दैवत की छवि खराब कर रहे हैं। ऐसे नेताओं को महाराष्ट्र की जनता वक्त आने पर सबक सिखाएगी।
-संतोष जैसवाल, ठाणे

 कार्रवाई होनी चाहिए
देश की राजनीति को कुछ नेतागण बदनाम करने में लगे हैं और भाजपा इसमें नंबर वन पर है। छत्रपति शिवाजी महाराज को बदनाम करने की साजिश की जा रही है। यह गलत ही है। इन सब पर कानूनी कार्रवाई होनी चाहिए।

-सुरेश इंगले, कल्याण
देश के तमाम पूजनीय व्यक्तियों को राजनीति के मंच पर बदनाम करने का जो सिलसिला चला है, वह किसी भी सूरत में ठीक नहीं है। देशभक्ति की बात करनेवाले भाजपा नेताओं को इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि छत्रपति शिवाजी महाराज जैसे महापुरुषों की वजह से ही हम सांस ले पा रहे हैं।
-वसंत बस्ते, बदलापुर

आज का सवाल?
भाजपा देश में ‘गुजरात मॉडल’ का ढोल पीटती है। मगर ‘ईपीएफओ’ के आंकड़े बताते हैं कि इस राज्य में रोजगार की स्थिति अच्छी नहीं है और यहां से पलायन भी हुआ है।
आप क्या सोचते हैं? तुरंत लिखकर भेजें या मोबाइल नं. ९३२४१७६७६९ पर व्हॉट्सऐप करें।

अन्य समाचार