मुख्यपृष्ठनए समाचारसवाल हमारे, जवाब आपके?

सवाल हमारे, जवाब आपके?

`फूट डालो, राज करो’ ब्रिटिशों की इस नीति के बाद अब लगता है केंद्र में बैठी भाजपा सरकार `पार्टी तोड़ो, राज करो’ की नीति अपना रही है। `गंदी’ और निचले स्तर की राजनीति करनेवाली भाजपा चुनावी जंग में जीतने के लिए किसी भी हद तक जा रही है।

• जनता देगी भाजपा को मुंहतोड़ जवाब
केंद्र की भाजपा सरकार शुरू से ही `पार्टी तोड़ो, राज करो’ की नीति अपना रही है। भाजपा द्वारा चुनाव की तारीख नजदीक आते ही नेताओं की खरीद-फरोख्त शुरू हो जाती है। येन-केन प्रकारेण सत्ता हासिल करना ही भाजपा का लक्ष्य होता है, लेकिन आनेवाले दिनों में जनता भाजपा को मुंहतोड़ जवाब देगी। जिस तरह से अंग्रेज देश से बेदखल हो गए, भाजपा भी सत्ता से बेदखल हो जाएगी।
-भावना सिंह, पवई

• कीमत चुकानी होगी
विधानसभा चुनाव में जीत हासिल करने के लिए केंद्र की भाजपा सरकार किसी भी हद तक जा सकती है। भाजपा सरकार सत्ता की चाहत में जनता के साथ-साथ नेताओं के विश्वास का भी गला घोंट रही है। बाहर से आयातित नेताओं को उम्मीदवार बनाकर अपने ही पार्टी के नेताओं के साथ भी धोखा कर रही है, जिससे उनमें आक्रोश का माहौल है, जो दूसरों के लिए गड्ढा खोदता है, वो खुद उसमें गिर जाता है’ कहावत भाजपा पर सटीक बैठ रही है। भाजपा अन्य पार्टियों को तोड़ती है, लेकिन मध्य प्रदेश में उसकी ही पार्टी टूटने के कगार पर है। आनेवाले चुनाव में भाजपा के नेता ही भाजपा को सबक सिखाएंगे।
-निशा सिंह, नालासोपारा

• बदलेगी सरकार
यह बिल्कुल गलत है क्योंकि अंग्रेज विदेशी थे और कुछ भी हो हम हिंदुस्थानी हैं। अंग्रेजों ने जिस प्रकार जुल्म किया, उसी प्रकार हमारे देश की ही भाजपा पार्टी जुल्म करती नजर आ रही है। भाजपा को अपने बर्ताव में बदलाव करने की आवश्यकता है। यदि बदलाव नहीं करेगी तो जनता खुद ब खुद सरकार बदल देगी।
-रेश्मा लोखंडे, ठाणे

• लालची भाजपा
केंद्र में बैठी भाजपा को सत्ता में रहने का लालच लग गया है। कोई भी चुनाव हो भाजपा हारने के बाद जीती हुई पार्टियों के विधायकों को खरीद लेती है। ऐसा करने से जनता के पैâसले को बगल में रख दिया जाता है। भाजपा को अंग्रेजों की नीति को अपनाना बंद करके सामान्य रूप से चुनाव का सामना करना चाहिए।
-रागिनी तिवारी, टिटवाला

• गंदी राजनीति
भाजपा के अलावा ऐसी दूसरी कोई भी पार्टी नहीं है, जिसने अंग्रेजों की नीति का उपयोग अपने राजनीतिक करियर को संवारने में लगाया हो। भाजपा का एक और सिर्फ एक ही उद्देश है, जो भी करना पड़े सत्ता के लिए करो। किसी भी स्तर पर जाओ, पर सत्ता हाथ से न जाने पाए। यही कारण है कि भाजपा की तोडू राजनीति की वजह से न जाने कितनी राजनीतिक पार्टियां समाप्त होने के कगार पर हैं। जो बिकता है, उसे खरीद लो। उसे फंसा दो। जिस तरह से भाजपा राजनीति कर रही है वह राजनीति नहीं गंदी और घटिया राजनीति है।
-रेखा शर्मा, घाटकोपर

•ओछी राजनीति
केंद्र सरकार की राजनीति ब्रिटिश राजनीति से भी गई गुजरी है। इस स्तर पर गिर गए हैं कि छोटे-छोटे कार्यकर्ता से लेकर विपक्ष के बड़े राजनेताओं पर डोरे डाल रहे हैं। अपनी पार्टी इनसे संभाली नहीं जा रही और ये दूसरे के घरों में फूट डालते हैं।
-महेंद्र वर्मा, कल्याण

अगले सप्ताह का सवाल?
२०२४ के लोकसभा चुनाव में इंडिया और एनडीए गठबंधन में किसको कितनी सीटें मिलेंगी? आपका क्या अनुमान है?
अपने विचार हमें लिख भेजें या मोबाइल नं. ९३२४१७६७६९ पर व्हॉट्सऐप करें।

अन्य समाचार