मुख्यपृष्ठखेलआउट ऑफ पैवेलियन: एक नोबॉल और फिसल गया वर्ल्डकप

आउट ऑफ पैवेलियन: एक नोबॉल और फिसल गया वर्ल्डकप

अमिताभ श्रीवास्तव। अंतिम चार में पहुंचने की एक जबरदस्त लड़ाई में हिंदुस्थानी टीम की वुमन विंग फिसल गई। दीप्ति शर्मा की अंतिम ओवर की पांचवी गेंद नोबॉल हो गई और दक्षिण अप्रâीका को जीतने का मौका मिल गया। ५०वें ओवर की आखिरी गेंद पर सिर्फ १ रन चाहिए था, जिसे बना लिया गया और एक अति रोमांचकारी मैच में हिंदुस्थान की टीम हारकर वर्ल्डकप से बाहर हो गई। मैच में हरमनप्रीत की बल्लेबाजी, गेंदबाजी और फील्डिंग दर्शनीय रही। उन्होंने जहां टीम के लिए ४८ रन बनाए, वहीं दो विकेट भी लिए और तीन रन आउट किए, मगर फिर भी टीम को वो जितवा नहीं सकी। इस आखिरी मैच में अप्रâीका को किसी भी हालत में हराना था। जबरदस्त रोमांचक मैच हुआ, मगर मिताली राज की कप्तानी में टीम सेमीफाइनल में नहीं पहुंच सकी, जबकि टॉस उन्हीं ने जीता था और पहले बल्लेबाजी करते हुए शानदार २७४ रन बनाए थे। इसमें स्मृति मंधाना सहित मिताली और हरमनप्रीत ने बेहतरीन पारी खेली थी। मगर दक्षिण अप्रâीका को वो इस लक्ष्य से पहले नहीं रोक सकी। दक्षिण अप्रâीका ने अपने ७ विकेट गंवाते हुए इस लक्ष्य को पूरा कर दिया और हिंदुस्थानी टीम के सपने को चकनाचूर कर दिया। वोल्वार्ट ८०, गुडाल ४९ और प्रीज के नाबाद अर्ध शतक ने हिंदुस्थानी टीम को अंतिम ओवरों की रोमांचक गेंदों में मात दे दी। मैच इतना रोमांचकारी रहा कि वो ६ गेंदो पर ७ रन की जरूरत पर जा टिका था। दीप्ति के हाथों में अंतिम ओवर था। जब सिर्फ २ गेंद शेष थी, तब ३ रन चाहिए थे मगर नोबॉल कर दी। इस तरह से आखिरी गेंद पर १ रन निकालकर अप्रâीका ने जीत हासिल की।

ब्रावो बहादुर
यूं तो चेन्नई की टीम हार गई, मगर इसके बहादुर ने रिकॉर्ड बना लिया। अब ये बहादुर कौन? क्या धोनी? या रवींद्र जडेजा? नहीं इनमें से कोई नहीं, बल्कि इंडियन प्रीमियर लीग २०२२ के सबसे अनुभवी खिलाड़ियों में से एक वेस्टइंडीज के ड्वेन ब्रावो हैं। ब्रावो ने पहले ही मैच में कमाल का प्रदर्शन करते हुए इतिहास रच दिया है। ब्रावो आईपीएल इतिहास में सबसे अधिक विकेट लेने वाले संयुक्त रूप से पहले गेंदबाज बन गए हैं। ब्रावो ने कोलकाता नाइट राइडर्स के खिलाफ मैच में ३ विकेट लेने के साथ ही अपने विकेटों की संख्या १७० तक पहुंचा दी। इस वैâरेबियन गेंदबाज से पहले श्रीलंका के लसिथ मलिंगा भी आईपीएल में १७० विकेट लेकर शीर्ष पर काबिज हैं। आईपीएल में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाजों की सूची में दूसरे नंबर पर अमित मिश्रा (१६६ विकेट) और तीसरे नंबर पर पीयूष चावला (१५७ विकेट) हैं।

ओलिंपिक वीरों का आईपीएल में सम्मान
क्रिकेट की या कहें हिंदुस्थान में किसी भी खेल की सबसे अमीर संस्था बीसीसीआई ने ओलिंपिक वीरों का सम्मान किया। इससे यह भी जाहिर हो गया कि बोर्ड केवल क्रिकेट ही नहीं, बल्कि देश के अन्य खेलों के खिलाड़ियों को भी सिर आंखों पर बैठाता है। आईपीएल २०२२ के १५वें सीजन के आगाज से पहले टोक्यो में देश को गोल्ड मेडल दिलाने वाले नीरज चोपड़ा समेत ओलिंपिक वीरों को भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने सम्मानित किया। इसमें नीरज के अलावा, बॉक्सर लवलीना बोरगोहेन और हिंदुस्थानी पुरुष हॉकी टीम शामिल है। बीसीसीआई की ओर से नीरज चोपड़ा को १ करोड़ रुपए का चेक दिया गया। आईपीएल के सोशल मीडिया अकाउंट पर इसका वीडियो भी शेयर किया गया है। वीडियो में बीसीसीआई प्रेसिडेंट सौरव गांगुली और सचिव जय शाह ने नीरज, लवलीना और भारतीय हॉकी टीम के कप्तान मनप्रीत सिंह को चेक दिया।
क्रिकेटर नहीं कमेंटेटर को मिलती है दौलत
आप यदि ये जानते हैं कि क्रिकेटरों को करोड़ो रुपए मिलते हैं, यानी उनकी सैलरी सबसे ज्यादा है तो गलत जानते हैं। मजा तो कमेंटेटर्स का है। उनकी सैलरी होती है, क्रिकेटरों से ज्यादा। जी हां, आईपीएल २०२२ में इस बार हिंदी में कमेंट्री के लिए १० क्रिकेट पंडितों को चुना गया है। ये सभी हिंदी में दर्शकों को मैच का आंखों देखा हाल बताएंगे, वहीं अंग्रेजी में कमेंट्री की जिम्मेदारी इयान बिशप, केविन पीटरसन, हर्षा भोगले और सुनील गावस्कर जैसे दिग्गजों के ऊपर है। कमेंट्री के लिए इन खिलाड़ियों को करोड़ों रुपए दिए जाते हैं। कई कमेंटेटर्स की सैलरी तो आईपीएल में खेलने वाले खिलाड़ियों से भी ज्यादा है। आप देखें आईपीएल में खेलने वाले अजिंक्य रहाणे को एक करोड़, उमेश यादव को दो करोड़ और टिम साउदी को १.५ करोड़ रुपए मिलते हैं, वहीं हर्षा भोगले और सुनील गावस्कर जैसे कमेंटेटर्स की सैलरी ३.८ करोड़ रुपए है। आईपीएल में कमेंट्री करने वाले सभी क्रिकेट पंडितों की सैलरी करोड़ों में है। सबसे कम सैलरी १.५ करोड़ है, जबकि कई खिलाड़ी लाखों की कीमत पर बिके हैं। कई बड़े खिलाड़ी भी एक करोड़ की कीमत पर बिके हैं। है न कमाल।

(लेखक सम सामयिक विषयों के टिप्पणीकर्ता हैं। ३ दशकों से पत्रकारिता में सक्रिय हैं व दूरदर्शन धारावाहिक तथा डाक्यूमेंट्री लेखन के साथ इनकी तमाम ऑडियो बुक्स भी रिलीज हो चुकी हैं।)

अन्य समाचार