मुख्यपृष्ठखेल आउट ऑफ पैवेलियन : सर्वश्रेष्ठ चानू

 आउट ऑफ पैवेलियन : सर्वश्रेष्ठ चानू

अमिताभ श्रीवास्तव।  ये दुनिया के भारोत्तोलन में हिंदुस्थानी दमक है। इसकी ऐसी चमक है, जो विरोधियों की आंखों को मिचमिचाती है, मगर देश का सीना गर्व से चौड़ा कराती है। जी हां, मीराबाई चानू। ओलिंपिक रजत पदक विजेता भारोत्तोलक मीराबाई चानू ने बीबीसी वर्ष की सर्वश्रेष्ठ हिंदुस्थानी महिला खिलाड़ी का पुरस्कार जीता। चानू ने पिछले साल टोक्यो ओलिंपिक में रजत पदक जीता था और ऐसा करने वाली वो पहली हिंदुस्थानी भारोत्तोलक बनीं। उन्होंने कहा, ‘मैं इस समय अमेरिका में अभ्यास कर रही हूं। मैं इस साल एशियाई खेल और राष्ट्रमंडल खेल में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करूंगी। बीबीसी को इस पुरस्कार के लिए धन्यवाद।’ युवा क्रिकेटर शेफाली वर्मा को ‘सर्वश्रेष्ठ उदीयमान खिलाड़ी’ का पुरस्कार मिला, वहीं सिडनी ओलिंपिक २००० में पदक जीतने वाली भारोत्तोलक कर्णम मल्लेश्वरी को ‘लाइफटाइम अचीवमेंट पुरस्कार’ दिया गया। टोक्यो ओलिंपिक और पैरालिंपिक के खिलाड़ियों को भी इस मौके पर सम्मानित किया गया।

मगर इस क्रांति को हिंदुस्थानी टीम में जगह नहीं
ये सब जानते हैं कि आईपीएल में कितना भी बेहतरीन प्रदर्शन वो दिखा ले, मगर हिंदुस्थानी टीम में उनकी जगह बननी कठिन ही है। चाहे लोग बोलें या वीरेंद्र सहवाग उसे क्रांति कहें, मगर हिंदुस्थानी टीम के दरवाजे उसके लिए नहीं खुलते। ये एक कड़वा सच है। अब देखिए न, गुजरात की जीत में राहुल तेवतिया ने अहम योगदान दिया। हरियाणा के २८ वर्षीय ऑलराउंडर ने टीम की तरफ से सर्वाधिक रन बनाए और अंत तक नाबाद रहे। उन्होंने २४ गेंदों पर ४० रन की नाबाद पारी खेली और इस दौरान पांच चौके और दो छक्के लगाए। इस शानदार पारी को देखकर राहुल तेवतिया की मैच जिताऊ पारी के बाद पूर्व क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग ने अपने खास अंदाज में उनकी तारीफ की है। सहवाग ने ट्वीट करते हुए लिखा, `तेवतिया एक क्रांति है, सामने वाली टीम में अशांति है। लॉर्ड तेवतिया की जय हो!’ गुजरात की शानदार जीत। शायद अबकी बार सिलेक्टर्स की नजर पड़े।

क्यूट धमाका
अब कोई धमाका क्यूट भी हो सकता है क्या? आईपीएल में ऐसा ही होता है। यहां एक ऐसा क्यूट खिलाड़ी है, जो धमाकेदार खेलता है यानी, जिसे देखकर कोई नहीं कहेगा कि ये मासूम सा लड़का आक्रामक भी हो सकता है। ऐसा है मगर। लखनऊ सुपर जायंट्स के सुपर क्यूट आयुष बदोनी, जो अपने पहले ही मैच में छा गए हैं। लड़कियां जिसकी दीवानी हैं। हालांकि यह खिलाड़ी अपने खेल और क्यूटनेस के चलते सोशल मीडिया पर पहले से ही ट्रेंड कर रहा है। इंस्टाग्राम पर आयुष के कुल १९ हजार फॉलोअर्स हैं। वो भी अपने पैंâस के लिए अक्सर अपनी पर्सनल लाइफ से जुड़ी तस्वीरें शेयर करते रहते हैं। आईपीएल के १५वें सीजन में लखनऊ सुपर जायंट्स के पहले मैच में आयुष बदोनी ने धुआंधार पारी खेली और टीम को एक सम्मानजनक स्कोर तक पहुंचाया। अपने आईपीएल डेब्यू में ही ४ चौके और ३ छक्कों की मदद से उन्होंने अपना पचासा पूरा किया। इस मैच में उन्होंने अपनी टीम के लिए बहुमूल्य ५४ रन बनाए। हालांकि उनकी टीम को हार का मुंह देखना पड़ा मगर आयुष तो जीत गया।

शमी का गदर शुरू
अपने शुरुआती मैच से ही मोहम्मद शमी ने गदर मचाना शुरू कर दिया। शमी ने एलएसजी के खिलाफ शुरुआती ओवरों में घातक गेंदबाजी करते हुए उनके शीर्ष क्रम के तीन प्रमुख बल्लेबाजों को पैवेलियन का रास्ता दिखाया। शमी ने लखनऊ के जिन बल्लेबाजों को अपना शिकार बनाया, उसमें कप्तान केएल राहुल, विकेटकीपर सलामी बल्लेबाज क्विंटन डिकॉक और मनीष पांडे का विकेट शामिल रहा। शमी ने वानखेड़े स्टेडियम में अपनी कहर बरपाती गेंदबाजी के बीच देश के पूर्व ऑलराउंडर खिलाड़ी इरफान पठान और मौजूदा खिलाड़ी हर्षल पटेल का एक खास रिकॉर्ड भी तोड़ा। दरअसल पठान ने आईपीएल में १०३ मैच खेलते हुए १०१ पारियों में ३३.१ की औसत से ८० और पटेल ने ६४ मैच खेलते हुए ६२ पारियों में २३.३ की औसत से ७९ विकेट चटकाए हैं। इस मुकाबले के बाद शमी के नाम आईपीएल में अब ८२ विकेट हो गए हैं। शमी ने आईपीएल में अब तक कुल ७८ मुकाबले खेले हैं। इस दौरान उन्होंने ७८ पारियों में २९.६ की एवरेज से कुल ८२ विकेट चटकाए हैं। शमी का आईपीएल में सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी प्रदर्शन १५ रन खर्च कर तीन विकेट है।

(लेखक सम सामयिक विषयों के टिप्पणीकर्ता हैं। ३ दशकों से पत्रकारिता में सक्रिय हैं व दूरदर्शन धारावाहिक तथा डाक्यूमेंट्री लेखन के साथ इनकी तमाम ऑडियो बुक्स भी रिलीज हो चुकी हैं।)

अन्य समाचार