मुख्यपृष्ठखेलआउट ऑफ पैवेलियन: लखनऊ के छक्का ने चेन्नई का फोड़ा सिर

आउट ऑफ पैवेलियन: लखनऊ के छक्का ने चेन्नई का फोड़ा सिर

अमिताभ श्रीवासत्व।  मैच में कुछ ऐसे पल या ऐसी घटनाएं हो जाती हैं, जो अद्भुत संयोग कहलाती हैं फिर ये वायरल होकर खूब चर्चा में आ जाती हैं। ऐसा ही हुआ कि लखनऊ ने छक्का मारा और चेन्नई का सिर फूट गया। जी हां, युवा सनसनी के नाम से मशहूर हो रहे खिलाड़ी आयुष बदोनी ने आईपीएल के मैच में सीएसके पर एलएसजी की जीत में अहम भूमिका निभाई। उन्होंने एविन लुईस के साथ अंत में शानदार पार्टनरशिप निभाई और ९ बॉल पर नाबाद १९ रन बनाए। इसमें उन्होंने अपने बल्ले से २ छक्के लगाए और टीम को शानदार जीत दिलाई। लेकिन १९वें ओवर की पहली गेंद पर आयुष ने शिवम दुबे की गेंद पर एक स्विप शॉट खेला और गेंद को सीधा स्टैंड्स में भेजा, जो सीएसके की जर्सी में बैठी एक महिला के सिर पर जाकर लगा। इसके बाद महिला कुछ देर तक सिर पकड़कर खड़ी रही। गनीमत रही कि महिला को कोई गंभीर चोट नहीं आई लेकिन इसका वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है।
ओस नहीं नियाग्रा प्रपात था
बताइए कोई मैदान ऐसा भी हो सकता है, जहां नियाग्रा जैसा सबसे बड़ा प्रपात हो। जी हां, क्रिकेट में जब कुछ भी हो सकता है तो प्रपात क्यों नहीं हो सकता। चेन्नई के कोच का तो यही कहना है। दरअसल, लखनऊ को अंतिम १२ गेंदों पर ३४ रन की जरूरत थी। चेन्नई के कप्तान रवींद्र जडेजा ने १९वां ओवर दुबे को सौंपा, जिस पर मैन ऑफ द मैच इविन लुईस और आयुष बदोनी ने मिलकर २५ रन बनाए। इससे लखनऊ को आखिर ओवर में जीत के लिए केवल नौ रन चाहिए थे, जो उसने तीन गेंद शेष रहते हुए बना दिए। कोच फ्लेमिंग ने मैच के बाद कहा, ‘यदि आप पहले की स्थिति पर गौर करो तो स्पिन विकल्प को नहीं आजमाया जा सकता था, क्योंकि जहां तक नमी का सवाल है तो वह नियाग्रा जलप्रपात जैसी थी और उन्होंने (लखनऊ) अच्छा खेल दिखाया।’ उन्होंने कहा, ‘ओस बहुत गिर रही थी और ऐसे में स्पिनरों के लिए गेंद पर ग्रिप बनाना बहुत मुश्किल हो रहा था। ऐसी स्थिति में उनके लिए प्रभाव छोड़ना आसान नहीं था। हमने पहले ही उनसे एक ओवर कम करवाया था लेकिन उन्होंने अच्छा प्रदर्शन किया।’
(लेखक सम सामयिक विषयों के टिप्पणीकर्ता हैं। ३ दशकों से पत्रकारिता में सक्रिय हैं व दूरदर्शन धारावाहिक तथा डाक्यूमेंट्री लेखन के साथ इनकी तमाम ऑडियो बुक्स भी रिलीज हो चुकी हैं।)

अन्य समाचार