मुख्यपृष्ठखेलआउट ऑप पैवेलियन... विश्वनाथ की आत्मकथा

आउट ऑप पैवेलियन… विश्वनाथ की आत्मकथा

अमिताभ श्रीवास्तव।  विश्वनाथ कौन? ये क्रिकेट के विश्वनाथ हैं, जिन्होंने हिंदुस्थानी टीम को उस जमाने में अपनी बल्लेबाजी का जलवा दिखाया, जिसमें बड़े-बड़े सूरमा गेंदबाज थे, जिनके खौफ की तूती बोला करती थी। जी हां, गुंडप्पा विश्वनाथ। कलाइयों के जादूगर और क्रीज के बादशाह। इस पूर्व कप्तान की आत्मकथा आई है ‘रिस्ट एश्योर्ड’। हिंदुस्थान और श्रीलंका के बीच दिन-रात के दूसरे टेस्ट के पहले दिन विमोचन किया गया। हिंदुस्थानी इतिहास के शीर्ष बल्लेबाजों में शामिल और अपनी कलात्मक बल्लेबाजी के लिए पहचाने जाने वाले विश्वनाथ की जीवनी के सह लेखक वरिष्ठ पत्रकार आर कौशिक हैं। डे-नाइट टेस्ट के डिनर ब्रेक के दौरान महान हिंदुस्थानी खिलाड़ियों कपिलदेव और सुनील गावस्कर ने संक्षिप्त समारोह में किताब का विमोचन किया। बाद में मीडिया से बात करते हुए ७३ साल के विश्वनाथ ने कहा कि उन्होंने शुरुआत में कौशिक के विचार को ठुकरा दिया था लेकिन बाद में उनके परिवार ने उन्हें मनाया।

चौथे बदकिस्मत अय्यर

इतनी शानदार पारी खेलकर भी क्या कोई बदकिस्मत हो सकता है? जी हां, बिलकुल हो सकता है। श्रेयस अय्यर हैं और वे हिंदुस्थानी टीम के ऐसे चौथे बल्लेबाज हैं, जो इस बदकिस्मती के चक्कर में फंसे। श्रेयस अय्यर ने ९८ गेंदों पर ९२ रन बनाए, जिसमें उन्होंने १० चौके और चार छक्के लगाए, जो बहुत ही क्लीन हिट थे। अय्यर की बदनसीबी यह रही कि इतनी बेहतरीन बल्लेबाजी के बावजूद अय्यर अपना शतक पूरा नहीं कर सके और अनचाहे बल्लेबाजों की वैâटेगरी में शुमार हो गए। शतक से पहले आउट होना तो एक वजह रही ही, बल्कि आउट होने के तरीके के से भी। बहुत ही चुनिंदा बल्लेबाज हैं, जो ९० और सौ के बीच स्टंप आउट हुए। दिलीप वेंगसरकर जो ९६ रन पर पाकिस्तान के खिलाफ १९८७ (चेन्नई) में आउट हुए थे। इसके बाद सचिन तेंदुलकर का नाम भी है, जो ९० के स्कोर पर इंग्लैंड के खिलाफ २००१ (बेंगलुरु) में खेलते हुए आउट हुए। अपने वीरू दादा यानी वीरेंद्र सहवाग भी इस फेरे में फंस चुके हैं। वो ९९ रन के स्कोर पर श्रीलंका २०१० (कोलंबो) में आउट हुए तो अब श्रेयस अय्यर ने वही इतिहास दोहराया और ९२ रन पर श्रीलंका २०२२ (बंगलुरु) में आउट हो गए।

कराची में काबिल कंगारू

पहला टेस्ट तो पाकिस्तान ने अपनी पिच की मदद से ड्रॉ करवा लिया, मगर दूसरे टेस्ट में उसकी हालत खराब हो गई है। कराची में कंगारुओं ने उसे अपनी गिरफ्त में ले लिया है। पाकिस्तान में ही जन्मे मगर ऑस्ट्रेलिया के सलामी बल्लेबाज उस्मान ख्वाजा के शतक की मदद से ऑस्ट्रेलिया ने पाकिस्तान के खिलाफ दूसरे क्रिकेट टेस्ट के पहले दिन तीन विकेट पर २५१ रन बना लिए। ख्वाजा २६६ गेंदों पर १२७ रन बनाकर खेल रहे हैं। रावलपिंडी में सपाट पिच पर ड्रॉ रहे पहले टेस्ट में शतक से तीन रन से चूके ख्वाजा ने एक और निर्जीव पिच पर उम्दा पारी खेली। ख्वाजा और स्टीव स्मिथ (७२) ने तीसरे विकेट के लिए १५९ रन जोड़े। पाकिस्तान ने आखिरी सत्र में २६ ओवर स्पिनरों से कराए लेकिन इससे कोई खास फर्क नहीं पड़ा। ख्वाजा ने १९३ गेंद में १२ चौकों और एक छक्के की मदद से शतक पूरा किया। पिछली २७ पारियों से टेस्ट शतक का इंतजार कर रहे स्मिथ ने लगातार दूसरा अर्धशतक जमाया।

नया कप्तान, नई जर्सी

फिलहाल चर्चा में आरसीबी की टीम है। आईपीएल में आरसीबी की टीम है, जिसे चेन्नई और मुंबई का तोड़ माना जाता रहा है। अब तक विराट कोहली की कप्तानी का सफर था, मगर इस बार उसके पास नया कप्तान आया है, साथ ही वो नई जर्सी में भी दिखाई देगी। रॉयल चैलेंजर्स बंगलुरु (आरसीबी) ने आगामी आईपीएल २०२२ सीजन के लिए अपनी नई जर्सी लॉन्च की। बंगलुरु में आयोजित आरसीबी अनबॉक्स कार्यक्रम में जर्सी लॉन्च की गई, जहां नव नियुक्त कप्तान फाफ डू प्लेसिस, दिनेश कार्तिक और हर्षल पटेल प्रशंसकों के लिए नई जर्सी में दिखे। आरसीबी ने ट्विटर पर पूर्व कप्तान विराट कोहली और नए कप्तान फाफ डू प्लेसिस की फोटो साझा की है, जिसमें दोनों खिलाड़ी नई जर्सी में नजर आ रहे हैं। जर्सी को लेकर विराट ने अपनी बात कही कि ये बहुत आरामदायक है और बहुत आकर्षक भी। जर्सी के साथ नए कप्तान को लेकर भी कोहली खुश हैं।

अन्य समाचार

ऊप्स!