मुख्यपृष्ठखेलआउट ऑफ पेवैलियन: बीवी के मोजे

आउट ऑफ पेवैलियन: बीवी के मोजे

अमिताभ श्रीवास्तव।  जो बीवी से करे प्यार, उसके मोजे से वैâसे करे इंकार। हां, हार्दिक पांड्या अपनी बीवी के मोजे से इतना प्यार करते हैं कि वो चुरा भी लेते हैं। ये खुद उनकी बीवी कह रही है। उनकी पत्नी ने ही अपनी इंस्टा स्टोरी के जरिए सभी को बताया है कि किस तरह से हार्दिक उनके मोजे चुराकर पहन लेते हैं? इंस्टाग्राम पर शेयर की गई इस स्टोरी में आप देख सकते हैं कि हार्दिक पांड्या टीवी देखते हुए नजर आ रहे हैं। इस फोटो में सिर्फ उनके पैर दिख रहे है और इन पैरों में उन्होंने सफेद रंग के मोजे पहने हुए हैं, जिसमें काले कलर का एक फूल बना हुआ है। देखने पर ये मोजे किसी फीमेल के ही लग रहे हैं। नताशा स्टेनकोविक ने अपनी इंस्टा स्टोरी पर यह फोटो शेयर करके लिखा कि `जब हार्दिक पांड्या मेरे मोजे पहनते हैं।’ तो वहीं हार्दिक ने भी अपनी इंस्टा स्टोरी पर इस फोटो को शेयर किया और लिखा कि `अब यह मेरे हो गए हैं।’

बुमराह मैडिसन
क्रिकेट दुनिया में जसप्रीत बुमराह एक अनोखे गेंदबाज हैं। उनका तोड़ नहीं है। उनकी यार्कर और एक्शन इतनी लाजवाब है कि कोई नकल करे भी तो कर न सके। जी हां, अब देखिए न निक मैडिसन ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज हैं, जो बाएं हाथ से बल्लेबाजी करते हैं। वो आक्रामक अंदाज में बल्लेबाजी के लिए जाने जाते हैं और आमतौर पर बाएं हाथ से स्पिन गेंदबाजी करते हैं लेकिन अब उन्होंने बुमराह के एक्शन की नकल करने की कोशिश की है। ऑस्ट्रेलिया के घरेलू टूर्नामेंट शेफील्ड शील्ड के फाइनल मुकाबले में मैडिसन ने बुमराह का एक्शन कॉपी किया है। यह मैच वेस्टर्न ऑस्ट्रेलिया और विक्टोरिया के बीच था। मैच के दौरान विक्टोरिया के पार्ट टाइम गेंदबाज निक मैडिसन गेंदबाजी के लिए आए और बुमराह के एक्शन में गेंदबाजी की। आमतौर पर ऑफ स्पिन गेंदबाजी करने वाले मैडिसन को तेज गेंदबाजी करता देख कमेंटेटर भी हैरान रह गए और उनके एक्शन की तुलना बुमराह से की।

रॉस खास हैं
न्यूजीलैंड क्रिकेट के मास्टर खिलाड़ी रॉस टेलर इतने खास हैं कि उनके संन्यास पर मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर ने उन्हें क्रिकेट के राजदूत की संज्ञा दी है। इस खिलाड़ी में वो बात है, जो अन्य किसी में नहीं, इसीलिए दिग्गज उनके संन्यास पर अपनी टिप्पणियों में उन्हें खास बनाते हैं। रॉस टेलर की गिनती न्यूजीलैंड के सबसे सफल बल्लेबाजों में होती है। उन्होंने २३६ वनडे मैचों में ८,६०७ रन बनाए हैं, वहीं ११२ टेस्ट मैचों में उनके नाम ७,६८३ रन दर्ज हैं। १०२ टी-२० इंटरनेशनल मैचों में उन्होंने १,९०९ रन बनाए। टेलर शतक जमाने के बाद खास अंदाज में जीभ बाहर निकालकर जश्न मनाते थे। सचिन तेंदुलकर ने टेलर को लेकर कहा, `आप खेल के एक महान राजदूत रहे हैं। आपके खिलाफ खेलना अद्भुत था। जिस तरह से आपने खुद को इतने वर्षों तक स्थापित रखा, वह क्रिकेटर बनने के इच्छुक सभी युवा बच्चों के लिए एक प्रेरणा हैं। शानदार करियर के लिए हार्दिक बधाई।

ऐसी भी क्या टीम!
ऐसी भी क्या टीम? जिसमें एक भी हिंदुस्थानी न हो, मगर फिर भी बनाई गई। यूं तो विश्व टीम है किंतु विश्व की बेहतरीन हिंदुस्थानी खिलाड़ियों से खाली। जी हां, हाल ही में समाप्त हुए महिला क्रिकेट विश्वकप की चैंपियन ऑस्ट्रेलिया की चार खिलाड़ियों को आईसीसी महिला वनडे विश्वकप के प्रदर्शन के आधार पर अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) की टीम में शामिल किया गया है लेकिन लीग चरण से बाहर होने वाली मिताली राज की अगुवाई वाली हिंदुस्थानी टीम की कोई भी खिलाड़ी इसमें जगह नहीं बना पाई। जबकि इसमें तीन ऐसी खिलाड़ी थीं, जिनका डंका बजता है। स्मृति मंधाना, यस्तिका और मिताली राज। फिर भी आईसीसी ने नहीं लिया। अब देखिए जो टीम है, वो इस प्रकार है। मेग लैनिंग (कप्तान), एलिसा हीली (विकेटकीपर), राशेल हेंस, बेथ मूनी (सभी ऑस्ट्रेलिया), लौरा वोल्वार्ट, मैरिजान वैâप, शबनीम इस्माइल (सभी दक्षिण अप्रâीका), सोफी एक्लेस्टोन, नेट शिवर (दोनों इंग्लैंड), हेली मैथ्यूज (वेस्टइंडीज), सलमा खातून (बांग्लादेश)। बारहवां खिलाड़ी चार्ली डीन (इंग्लैंड)।

(लेखक सम सामयिक विषयों के टिप्पणीकर्ता हैं। ३ दशकों से पत्रकारिता में सक्रिय हैं व दूरदर्शन धारावाहिक तथा डाक्यूमेंट्री लेखन के साथ इनकी तमाम ऑडियो बुक्स भी रिलीज हो चुकी हैं।)

अन्य समाचार