मुख्यपृष्ठखेलआउट ऑफ पैवेलियन : रिकॉर्डवाली झूलन

आउट ऑफ पैवेलियन : रिकॉर्डवाली झूलन

अमिताभ श्रीवास्तव।  इंग्लैंड से यूं तो हिंदुस्थानी टीम को करारी हार मिली। विश्वकप में उसकी ये दूसरी हार थी। मगर इस बीच गेंदबाज झूलन गोस्वामी के खाते में ऐसा रिकॉर्ड गिरा, जिसके आस-पास दुनिया की कोई भी गेंदबाज नहीं है। हिंदुस्थानी महिला टीम से मिले मामूली १३५ रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी इंग्लिश टीम की बस शुरुआत खराब रही। बाद में वो न केवल संभली बल्कि जल्द जीत भी गई। इंग्लैंड को पहला झटका डेनियल वेट के रूप में लगा। उन्हें मेघना सिंह ने स्नेह राणा के हाथों एक रन के निजी स्कोर पर आउट किया। इसके बाद जैमी ब्यौमॉन्ट को झूलन गोस्वामी ने पगबाधा करते हुए अपना २५०वां वनडे विकेट हासिल किया। १९९वां मैच खेल रहीं झूलन वनडे क्रिकेट में सबसे अधिक विकेट लेने वाली महिला क्रिकेटर हैं। वो २०० विकेटों तक पहुंचने वाली पहली महिला क्रिकेटर बनी थीं। उनके बाद अभी तक कोई खिलाड़ी २०० विकेट तक नहीं पहुंच सका है।

सेन की सनसनी
बैडमिंटन की सनसनी के रूप में अब तक सायना नेहवाल और पीवी सिंधु के नाम चर्चा में रहते आए थे, मगर पुरुषों में एक तरह से अकाल था। अब जब पिछले दिनों युवा लक्ष्य सेन ने विश्व नंबर वन को पटखनी दी तो अखबार-चैनल सब उनके नाम से रंग गए। इस सनसनी की अब एक और खबर आई है कि रैंकिंग मामले में भी उन्होंने लंबी छलांग लगाई है। युवा बैडमिंटन खिलाड़ी लक्ष्य सेन को लगातार शानदार प्रदर्शन का बड़ा इनाम मिला। लक्ष्‍य ने बीडब्ल्यूएफ विश्व रैंकिंग में लंबी छलांग लगाई है। वे मेंस सिंगल में ११वें स्थान पर पहुंच गए हैं, जबकि २ बार की ओलिंपिक मेडलिस्‍ट पीवी सिंधु वीमंस सिंगल में ७वें स्थान पर बरकरार हैं। इस जीत की बदौलत लक्ष्य के अभी ७० हजार ०८६ अंक हैं। रैंकिंग पर टॉप पर डेनमार्क के ओलिंपिक चैंपियन विक्टर एक्सेलसन हैं, जिन्‍हें बीते दिनों लक्ष्‍य ने जर्मन कप के सेमीफाइनल में हराया था। दूसरे स्थान पर जापान के केंतो मोमोता और डेनमार्क के ही एंडर्स एंटोनसन हैं।
फायर इन बॉक्स
लीजिए यहां फ्लावर फायर आउट नहीं है और न होगा, बल्कि यहां इन बॉक्स होगा। नहीं समझे? अरे क्रिकेट के फायर समझे जाने वाले तथा आईपीएल में धूम मचाने वाले सुरेश रैना को इस बार किसी ने नहीं खरीदा था और इस पर उनके प्रशंसकों ने खूब हल्ला-गुल्ला किया था। चेन्नई टीम से खेलने वाले इस फायर क्रिकेटर को अब नए रूप में लोगों के सामने आने का मौका मिला है, यानी अब वो एक कमेंटेटर के रूप में दिखाई देंगे। यही है फायर इन बॉक्स यानी कमेंट्री बॉक्स में होंगे रैना। रैना के साथ ही अपनी कमेंट्री की पारी फिर से शुरू कर रहे हैं, भूतपूर्व कोच रवि शास्त्री भी। रवि शास्त्री और सुरेश रैना आईपीएल में कमेंट्री करते हुए अब दिखाई देंगे, ऐसी खबर क्रिकेट जगत में तेज है। इस बार रैना के साथ बड़ा ही अफसोसजनक पहलू जुड़ा था। ३५ वर्षीय इस खिलाड़ी को कप्तान धोनी का भी साथ नहीं मिला, जबकि वो रैना के सबसे बढ़िया जोड़ीदार माने जाते रहे हैं। रैना बदकिस्मत रहे कि उन्हें किसी भी टीम ने नहीं लिया। पर जो हो आईपीएल में रैना न हो ऐसा, अब संभव नहीं। वो कमेंटेटर के रूप में अपने पैंâस के लिए मौजूद रहेंगे।

अन्य समाचार