मुख्यपृष्ठखेलआउट ऑफ पैवेलियन : मनिका के आंसू

आउट ऑफ पैवेलियन : मनिका के आंसू

अमिताभ श्रीवास्तव।  यूं तो कॉमनवेल्थ गेम्स में हिंदुस्थान चौथे नंबर पर रहा। उसका प्रदर्शन बढ़िया रहा मगर एक खिलाड़ी ऐसी है, जिसके आंसू नहीं रुक रहे। मनिका बत्रा। जी हां, देश की स्टार टेबल टेनिस प्लेयर मनिका बत्रा बर्मिंघम में हुए राष्ट्रमंडल खेलों २०२२ में मेडल नहीं जीत पार्इं। वो सिंगल्स के क्वॉर्टर फाइनल में सिंगापुर की जियान जेंग से चार सीधे सेट में हार गई थीं। महिला टीम बर्मिंघम में क्वॉर्टर फाइनल में मलेशिया से ३-२ से हार गर्इं, मनिका जिसका हिस्सा थीं। इसके बाद वो जी साथियान के साथ मिश्रित युगल के क्वॉर्टर फाइनल में जावेन चोंग और कारा लिन की मलेशियाई जोड़ी २-३ से हार गई। मनिका ने इस बात को लेकर एक पोस्ट किया है, जिसमें उन्होंने कहा कि मेडल नहीं जीत पाने का बेहद अफसोस है। उन्होंने देशवासियों से इसके लिए माफी भी मांगी है। मनिका बत्रा ने अपने पोस्ट के जरिए बताया कि वो इस बात से इतनी दुखी हैं कि वो रोज इस गम में रोती हैं।

किशन का टशन
एशिया कप के लिए हिंदुस्थानी टीम में ईशान किशन का चयन नहीं हुआ, जबकि वो फॉर्म में थे। अब भले ही उनका चयन न हुआ हो मगर उनका टशन बरकरार है। टीम के ओपनिंग करने वाले धाकड़ बल्लेबाज ईशान किशन ने टीम में न चुने जाने पर अपने इंस्टाग्राम पर कमेंट शेयर किया है। उन्होंने लिखा है, `अब ऐसा बनना नहीं, भले घायल हो जाना। तुझे फूल समझे कोई तो फायर हो जाना। बेल्ला पीछे रहना लेकिन सब संभाल।’ संभवत: ईशान किशन यह कहना चाहते हैं कि भले ही मुझे कमजोर समझकर नहीं चुना गया लेकिन अब फायर करना है। उन्होंने चयनकर्ताओं को भी संकेत दिया है कि यदि उन्हें टी-२० वर्ल्ड कप में चुना जाता है तो वे सब संभाल लेंगे। सोशल मीडिया पर उन्होंने जब से यह शेयर किया है तब से कई तरह के कमेंट्स आ रहे हैं। क्रिकेट प्रेमी और ईशान के पैंâस भी उन्हें टीम में न लिए जाने से शॉक्ड हैं। लोग उनके पोस्ट पर मजेदार कमेंट्स भी कर रहे हैं।

आराम करेंगी कंगारू कप्तान
कॉमनवेल्थ गेम्स में हिंदुस्थानी टीम को ९ रन से हराकर ऑस्ट्रेलियाई कप्तान मेग लैनिंग ने एक बयान जारी किया है, जिसमें उन्होंने कहा है कि कुछ सालों से मैं काफी बिजी हूं। मैंने खुद पर ध्यान केंद्रित करना बंद कर दिया था। अब ऐसा नहीं होगा, क्योंकि मैंने कुछ समय के लिए क्रिकेट से दूर रहने का पैâसला लिया है। मैं क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया और मेरे साथियों के समर्थन के लिए आभारी हूं। मैं चाहती हूं कि मेरे इस पैâसले का सभी के द्वारा सम्मान किया जाए। ऑस्ट्रेलियाई विमेंस क्रिकेट टीम की कप्तान ने कॉमनवेल्थ गेम्स २०२२ के बाद बहुत बड़ा पैâसला लिया है। उन्होंने क्रिकेट से दूरी बनाने का एलान कर सभी को चौंका दिया है। अब उनकी वापसी कब होगी? इसके बारे में भी कुछ नहीं पता है। आने वाले समय में ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट को बड़ा झटका इस वजह से लग सकता है।
लापता हुए पाकिस्तानी
वैसे तो किसी भी देश से कोई भी पाकिस्तानी लापता होता है तो इसे खतरनाक माना जाता है, क्योंकि पाकिस्तानी नागरिक किसी भी आपराधिक गतिविधियों में शामिल हो सकता है, ये अंदेशा तो पूरी दुनिया को रहता है। बहरहाल, इधर भी कुछ ऐसा हुआ कि राष्ट्रमंडल खेलों की समाप्ति के बाद से बर्मिंघम में दो पाकिस्तानी मुक्केबाज लापता हो गए हैं। पाकिस्तानी मुक्केबाजी महासंघ (पीबीएफ) के सचिव नासिर तांग ने इस खबर की पुष्टि की कि मुक्केबाज सुलेमान बलूच और नजीरुल्लाह टीम के इस्लामाबाद रवाना होने से कुछ घंटे पहले गायब हो गए। बर्मिंघम राष्ट्रमंडल खेलों का समापन सोमवार को हुआ था। तांग ने कहा, ‘उनके पासपोर्ट सहित यात्रा दस्तावेज अभी भी महासंघ के उन अधिकारियों के पास हैं, जो मुक्केबाजी टीम के साथ खेलों में गए थे।’ उन्होंने कहा कि टीम प्रबंधन ने ब्रिटेन में पाकिस्तान उच्चायोग और लंदन में संबंधित अधिकारियों को सुलेमान और नजीरुल्लाह के लापता होने के बारे में सूचित कर दिया है।

अन्य समाचार