मुख्यपृष्ठखेलआउट ऑफ पैवेलियन : इंग्लैंड नहीं जर्मन जाएंगे राहुल

आउट ऑफ पैवेलियन : इंग्लैंड नहीं जर्मन जाएंगे राहुल

अमिताभ श्रीवास्तव 

इंग्लैंड नहीं जर्मन जाएंगे राहुल
टेस्ट टीम में केएल राहुल शामिल थे और इंग्लैंड दौरे के लिए उन्हें जाना था मगर टीम के साथ वो नहीं दिखे। दरअसल, अपनी चोट से वो उबर नहीं पाए हैं। इधर टीम इंडिया के खिलाड़ी इंग्लैंड दौरे के लिए वहां पहुंच गए हैं। इनमें पूर्व कप्तान विराट कोहली, सीनियर बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा और गेंदबाज जसप्रीत बुमराह जैसे सीनियर शामिल हैं। लेकिन, टॉप ऑर्डर बल्लेबाज लोकेश राहुल टीम के साथ नहीं गए हैं। खबर है कि वे चोट से रिकवर नहीं हो सके हैं और इंग्लैंड दौरे से हट गए हैं। एक मीडिया रिपोर्ट में दावा किया गया है कि रिकवरी के लिए वे जर्मनी जाएंगे। हालांकि इस पर बोर्ड का कोई बयान नहीं आया है। बोर्ड ने सोशल मीडिया में टीम की रवानगी की फोटो पोस्ट की। लेकिन, इनमें कप्तान रोहित शर्मा भी नजर नहीं आ रहे हैं। सभी खिलाड़ियों ने मुंबई से उड़ान भरी थी, ये सभी लीस्टर शहर पहुंचे हैं।
खेलमंत्री का लव लेटर
बीच मैदान में लव लेटर लहराना वो भी किसी खेल मंत्री का अजीब लगता है न। खेलमंत्री भी ऐसा जो खिलाड़ी भी है और बंगाल की ओर से रणजी ट्रॉफी में शिरकत कर रहा है। कभी टीम इंडिया में भी खेल चुके इस खिलाड़ी ने शतक बनाकर एक लव लेटर लहराया जिसपर लव का चिह्न था और कुछ लिखा हुआ था। सोशल मीडिया पर कोई उन्हें ट्रोल कर रहा है तो कोई उनके रोमांटिक अवतार की तारीफ कर रहा है। यह लेटर बंगलुरु के अलूर क्रिकेट स्टेडियम से अपलोड हुआ है, जो मनोज तिवारी ने मध्य प्रदेश और पश्चिम बंगाल के बीच खेले जा रहे रणजी ट्रॉफी के सेमीफाइनल मुकाबले के दौरान शतक जमाने के बाद बीच मैदान पर लहराया था। तिवारी ने अपना शतक पूरा करने के बाद एक पर्चा लहराते हुए अपनी खुशी जाहिर की। इस पर्चे में उनकी पत्नी सुष्मिता रॉय और उनके बच्चों के नाम लिखे थे।
टी२० से पहले संन्यास
टीम इंडिया बनाम आयरलैंड के बीच टी२० सीरीज आसन्न है। एक नई टीम हार्दिक पांड्या की कप्तानी में वहां जा रही है इसके पूर्व आयरलैंड के पूर्व कप्तान ने संन्यास की घोषणा कर दी। जी हां, टीम इंडिया के खिलाफ टी-२० सीरीज से पहले आयरलैंड के पूर्व कप्तान विलियम पोर्टरफील्ड ने अपने १६ साल के लंबे करियर को समाप्त करते हुए अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास की घोषणा की। ३७ वर्षीय पोर्टरफील्ड ने इस सप्ताह की शुरुआत में क्रिकेट आयरलैंड को अपने फैसले की जानकारी दी और बोर्ड ने गुरुवार को आधिकारिक घोषणा की। वे आयरलैंड के लिए तीसरे सबसे अधिक मैच खेलने वाले आयरिश और दूसरे सबसे ज्यादा रन बनानेवाले खिलाड़ी रहे। वनडे क्रिकेट में ११ शतक लगानेवाले पोर्टरफील्ड आयरलैंड के लिए टॉप ऑर्डर में स्तंभ की तरह थे। उन्होंने विभिन्न विश्व क्रिकेट लीग प्रतियोगिताओं से लेकर वैश्विक स्तर पर सभी प्रतियोगिताओं में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर १०,००० रन बनाए। उन्हें २००८ में कप्तान नियुक्त किया गया और १७८ मैचों में टीम का नेतृत्व किया।
पुजारा मोड
जी हां, पुजारा मोड। ये क्या है? यह क्रिकेट में बल्लेबाज का एक ऐसा मोड है, जिसमें बल्लेबाज क्रीज पर डटा रहता है और उसके बल्ले से रन नहीं निकलता। जी हां, चेतेश्वर पुजारा इसके मास्टर पीस हैं। उनकी तरह ही रणजी ट्रॉफी के एक मैच की दूसरी पारी में यशस्वी जायसवाल ने ये कारनामा दिखाया। और जब रन निकला तो उनकी तथा विरोधी टीम के खिलाड़ियों ने हंसते हुए उनका अभिवादन भी किया। यशस्वी ने भी बल्ला उठाकर ये अभिवादन स्वीकार किया मानो कोई शतक बना लिया हो। यशस्वी जायसवाल ने ५४वीं गेंद पर अपना पहला रन बनाया जब उन्होंने अंकित राजपूत के खिलाफ चौका जड़ा। इसके बाद मुंबई के खिलाड़ियों ने ताली बजाई और यशस्वी ने बल्ला उठाकर उनका अभिवादन स्वीकार किया। मुंबई के साथ ही यूपी के खिलाड़ी उनका खाता खुलने के बाद अपनी हंसी नहीं रोक पा रहे थे। इस पारी से पहले यशस्वी ने लगातार दो पारियों में शतक लगाया था। २०१८ में दक्षिण अफ्रीका  दौरे पर चेतेश्वर पुजारा ने भी ५४ गेंदों पर अपना खाता खोला था।

अन्य समाचार