मुख्यपृष्ठखेलआउट ऑफ पवैलियन : खुल गई महिला आईपीएल विंडो

आउट ऑफ पवैलियन : खुल गई महिला आईपीएल विंडो

  • अमिताभ श्रीवास्तव 

खुल गई महिला आईपीएल विंडो
जिसका था इंतजार और जिसके लिए प्रयास जारी थे अब वो लगभग पूरे होने जा रहे हैं। महिलाओं की इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) मार्च २०२३ में एक महीने की विंडो में शुरू की जाएगी और पूरी संभावना है कि इसमें पांच टीमें खेलेंगी। इसकी पुष्टि भारतीय क्रिकेट बोर्ड के एक वरिष्ठ अधिकारी ने की। बीसीसीआई के शीर्ष अधिकारियों ने इस मुद्दे पर चर्चा की और टूर्नामेंट के लिए मार्च की विंडो को ठीक समझा गया जो दक्षिण अफ्रीका  में महिला टी-२० विश्व कप के बाद की है। चर्चा है कि डब्ल्यूआईपीएल मार्च के पहले हफ्ते में शुरू होगा और पहले साल चार हफ्ते की विंडो निर्धारित की है। दक्षिण अफ्रीका  में टी-२० विश्व कप ९ से २० फरवरी तक आयोजित किया जाएगा और हमारी योजना इसके तुरंत बाद डब्ल्यूआईपीएल कराने की है।
कौन जीतेगा एशिया कप?
एशिया कप आसन्न है। िंहदुस्थान बनाम पाकिस्तान को २८ को भिड़ना है। इस टूर्नामेंट में यही दोनों टीमों में से एक को विजेता के रूप में देखा जा रहा है मगर जरूरी नहीं कि बांग्लादेश, श्रीलंका को नजरअंदाज कर दिया जाए। फिर भी टीम इंडिया और पाकिस्तान पर ही सबकी नजर है। शायद यही वजह है कि रिकी पोंटिंग भी इन्हीं दोनों टीमों को देख रहे हैं। पोंटिंग ने बताया है कि दोनों ही टीमों में काफी गहराई है। अगर आप टी-२० वल्र्ड कप के आंकड़े देखें तो टीम इंडिया का पलड़ा पाकिस्तान पर भारी है। वहीं एशिया कप में आप बात करते हैं तो दोनों टीमों के बीच कुल १३ मैच खेले गए हैं जिसमें से हिंदुस्थानी टीम ने ७ और पाकिस्तान ने ५ जीते हैं जबकि एक मैच का परिणाम नहीं आया है। आंकड़ों के हिसाब से टीम इंडिया पाकिस्तान पर भारी पड़ती हुई नजर आ रही है और एशिया कप २०२२ को जीतने के लिए हिंदुस्थानी टीम में गहराई नजर आती है।
कौन रोकेगा पुजारा को?
चेतेश्वर पुजारा अपने हाथ दिखा रहे हैं। चयनकर्ताओं की नींद उड़ा रहे हैं। ऐसा भी कोई क्रिकेट खेलता है कि ताज्जुब होने लगे। अब बताओ कौन रोकेगा पुजारा को? तो जवाब है हमारी सिलेक्टर कमिटी। भले ही पुजारा इंग्लैंड की धरती पर धुंआंधार बल्लेबाजी कर रहे हों मगर उन्हें छोटे फॉर्मेट के क्रिकेट में नहीं लिया जाएगा। ये तय है। हां आईपीएल में उनकी बोली लग सकती है मगर वन डे या टी-२० के लिए पुजारा की किस्मत अभी भी खुली नहीं है क्योंकि हमारे यहां यही तो होता है कि एक बार मोहभंग किसी खिलाड़ी से हुआ नहीं कि उसका लौटना कठिन हो जाता है। खैर। चेतेश्वर पुजारा ने रॉयल लंदन कप में वारविकशायर के खिलाफ पुजारा ने ससेक्स की ओर से खेलते हुए तूफानी पारी खेली ७३ गेंदों में सेंचुरी ठोककर धमाल मचा दिया। हालांकि पुजारा अपनी टीम को जीत नहीं दिला पाए लेकिन उनकी पारी ने फैंस का दिल जीतने में जरूर सफलता पाई।
कोच भी बदला
कप्तान तो कप्तान यहां तो कोच भी बदल दिया गया। जी हां, केएल राहुल फिट होकर आए तो जिंबाब्वे दौरे पर शिखर धवन को हटा कर राहुल को कप्तानी सौंप दी। अब कोच राहुल द्रविड़ की जगह वीवीएस लक्ष्मण को कोच बनाया गया है जो जिंबाब्वे के लिए उपलब्ध रहेंगे। ऐसा क्यों किया गया इसका तो कोई सही जवाब नहीं मिला, किंतु जब आराम खिलाड़ियों को मिलता है तो कोच को क्यों नहीं इसलिए भी शायद राहुल द्रविड़ को आराम दिया गया है क्योंकि इसके बाद वो एशिया कप के लिए उपलब्ध होंगे। बहरहाल, जिंबाब्वे दौरे पर टीम को तीन वनडे मैच खेलने हैं जिसकी शुरुआत १८ अगस्त को होगी। इसके बाद २० और २२ अगस्त को दूसरा और तीसरा वनडे मुकाबला खेला जाएगा। तीनों ही मुकाबले हरारे स्पोट्र्स क्लब मैदान पर खेले जाएंगे। बता दें कि लगभग ६ साल बाद टीम इंडिया जिंबाब्वे दौरे पर है। आखिरी बार टीम जिंबाब्वे दौरे पर साल २०१६ में महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में गई थी।

(लेखक सम सामयिक विषयों के टिप्पणीकर्ता हैं। ३ दशकों से पत्रकारिता में सक्रिय हैं व दूरदर्शन धारावाहिक तथा डाक्यूमेंट्री लेखन के साथ इनकी तमाम ऑडियो बुक्स भी रिलीज हो चुकी हैं।)

अन्य समाचार