मुख्यपृष्ठखेलआउट ऑफ पैवेलियन : अफरीदी को उखाड़ फेंका

आउट ऑफ पैवेलियन : अफरीदी को उखाड़ फेंका

  • अमिताभ श्रीवास्तव

अफरीदी को उखाड़ फेंका
क्रिकेट रिकॉर्ड बुक में पाकिस्तान के बड़बोले पूर्व खिलाड़ी शाहिद अफरीदी के नाम छक्कों का ऐसा रिकॉर्ड था, जिसने उसे दुनिया के नंबर दो पर बनाए रखा था मगर अब उसे उखाड़ फेंका है हिटमैन ने। जी हां, रोहित शर्मा ने अफरीदी के रिकॉर्ड को पीछे छोड़ते हुए ये स्थान अपने नाम किया। रोहित शर्मा ने फ्लोरिडा के मैदान पर विंडीज टीम के खिलाफ खेले गए चौथे टी-२० में टीम इंडिया को तूफानी शुरुआत दी। तीसरे मैच में चोट के कारण रिटायर्ड हर्ट हुए रोहित ने फिट होने के बाद अपने बल्ले से जौहर दिखाया और इंटरनेशनल क्रिकेट में सबसे ज्यादा छक्के लगाने का बड़ा रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया। रोहित शर्मा के नाम अब इंटरनेशनल करियर में ४७७ छक्के हो गए हैं। उन्होंने पाकिस्तान के शाहिद अफरीदी को पीछे छोड़ दिया है, जिन्होंने ४७६ छक्के लगाए थे। सबसे आगे क्रिस गेल हैं, जिनके नाम कुल ५५३ छक्के हैं। रोहित का अगला टारगेट भी गेल ही हैं। हालांकि इसके लिए तूफानी पारी न केवल खेलनी होगी बल्कि छक्के पर छक्का भी जड़ते रहना होगा।
ये चोट बड़ी दुखदायी है
यूं तो खिलाड़ी चोटिल होते रहते हैं और ठीक होकर मैदान पर लौट भी आते हैं। अफसोस तो तब होता है जब किसी मुख्य टूर्नामेंट के लिए उसकी मेहनत हो और लक्ष्य बनाकर वो अपने प्रदर्शन को बेहतर से बेहतर बना रहा हो कि अचानक चोटिल हो जाए और ऐसा बाहर हो जाए कि उसके बनाए सपने ही चकनाचूर हो जाएं। जी हां, ऐसा ही हुआ हर्षल पटेल के साथ। टीम इंडिया के स्टार तेज गेंदबाज हर्षल पटेल एशिया कप २०२२ से बाहर हो गए हैं। इंजरी के कारण अब उनका वल्र्ड कप २०२२ में भी खेलना मुश्किल लग रहा है, जो इस साल अक्टूबर-नवंबर में ऑस्ट्रेलिया में होना है। चोटिल होने की वजह से वेस्टइंडीज के खिलाफ आखिरी मुकाबले भी नहीं खेल पाएंगे। हर्षल की यह चोट इतनी गंभीर बताई जा रही है कि वे ऑस्ट्रेलिया में होने वाले टी-२० वल्र्ड कप से बाहर हो सकते हैं।
धोबी पछाड़ में
पिचका पाकिस्तान
हिंदुस्थानी मिट्टी की यही तो ताकत है। हिंदुस्थान के दम और परंपरागत दांव का कोई सानी नहीं। पाकिस्तान क्या खा कर सामने टिक पाता। वो तो पाकिस्तानी पहलवान के लिए अच्छा रहा कि फाइनल से पूर्व कोई हिंदुस्थानी पहलवान से नहीं भिड़ा अन्यथा पहले ही चित होकर अपने देश का टिकिट कटवा लेता। यही वजह रही कि मोहम्मद शरीफ ताहिर नामक पहलवान फाइनल में आ गया था। यहां उसका मुकाबला था बब्बर शेर नवीन से। अभी मुकाबला शुरू ही हुआ था कि पटखनी देकर नवीन ने पाकिस्तानी पहलवान को दिन में तारे दिखा दिए। वो बाद में संभल ही नहीं पाया और धोबी पछाड़ लगाकर ऐसा चित किया कि उसको छठी का दूध याद दिला दिया। नवीन ने मुहम्मद शरीफ ताहिर को एकतरफा ९-० से रौंद डाला। अखाड़े में हिंदुस्थान के आगे पाकिस्तान ढेर होता जा रहा है। इसके पहले दीपक पुनिया ने भी और रवि दहिया ने भी पाकिस्तान को धूल चटाकर वापस पाकिस्तान भेजा था।
पांचवें पर हिंदुस्थान
कॉमनवेल्थ गेम्स अपने चरम पर पहुंच चुका है और पदक तालिका का जो दृश्य है, उसमें हिंदुस्थान पांचवें नंबर पर बना हुआ है। अब लगभग यह तय हो गया है कि हिंदुस्थान ५ वें नंबर पर ही कायम रहेगा क्योंकि यदि वो गोल्ड जीतता भी है तो उसके ऊपर न्यूजीलैंड को तो रहना ही है क्योंकि कीवियों के पास इतने गोल्ड हैं, जिसकी बराबरी करना हिंदुस्थान को थोड़ा कठिन रहेगा। यह लिखे जाने तक टीम इंडिया ने कुल मिलाकर ४० मेडल अपने नाम करने में सफलता हासिल की है। उसकी झोली में १३ गोल्ड, ११ सिल्वर और १६ ब्रॉन्ज मेडल हैं। इस तालिका में पहले स्थान पर बनी हुई ऑस्ट्रेलिया की टीम ने अबतक कुल १५५ पदक जीते हैं, जिसमें ५९ गोल्ड, ४६ सिल्वर और ५० कांस्य पदक शामिल हैं। इसके बाद इंग्लैंड दूसरे नंबर पर और कनाडा की टीम तीसरे स्थान पर काबिज है। चौथे नंबर पर न्यूजीलैंड की टीम मौजूद हैं।

(लेखक सम सामयिक विषयों के टिप्पणीकर्ता हैं। ३ दशकों से पत्रकारिता में सक्रिय हैं व दूरदर्शन धारावाहिक तथा डाक्यूमेंट्री लेखन के साथ इनकी तमाम ऑडियो बुक्स भी रिलीज हो चुकी हैं।)

अन्य समाचार