मुख्यपृष्ठखेलआउट ऑफ पैवेलियन : शर्माजी का शर्मनाक रिकॉर्ड

आउट ऑफ पैवेलियन : शर्माजी का शर्मनाक रिकॉर्ड

  • अमिताभ श्रीवास्तव

शर्माजी का शर्मनाक रिकॉर्ड
क्रिकेट बुक में यदि शर्माजी यानी रोहित शर्मा की ऐतिहासिक पारियों का जिक्र है तो उनके बनाए गए शर्मनाक रिकॉर्ड भी दर्ज है। ये तो बड़ा बेकार रिकॉर्ड है कि मैच की पहली गेंद पर अपना विकेट खोकर पैवेलियन चलते बनना। जी हां, पहली गेंद पर शर्मा ओबेद मेककॉय की गेंद पर अकील होसिन को कैच दे बैठे और गोल्डन डक पर पैवेलियन लौट गए। यह रोहित शर्मा का अंतरराष्ट्रीय टी-२० क्रिकेट में ८वां डक था। यह किसी भी हिंदुस्थानी द्वारा बनाए गए सबसे ज्यादा डक हैं। शर्मा के बाद सलामी बल्लेबाज लोकेश राहुल चार बार डक पर आउट हुए हैं। इसके अलावा आशीष नेहरा, वॉशिंगटन सुंदर, यूसुफ पठान, ऋषभ पंत, सुरेश रैना, विराट कोहली और दिनेश कार्तिक तीन-तीन बार ऐसा कर चुके हैं। इस मैच में वेस्टइंडीज ने टीम इंडिया को बुरी तरह हराया।
नंबर ३ का किंग कोहली
भले ही आउट ऑफ फॉर्म में चल रहे हों मगर नंबर ३ की पोजिशन से विराट कोहली को कोई हिला नहीं सकता। नंबर ३ का किंग तो कोहली ही है। दरअसल ऐसा अब माना जाने लगा है जब कोहली की अनुपस्थिति में अन्य खिलाड़ियों को आजमाया जा रहा है। पूर्व क्रिकेटर वसीम जाफर ने तो साफ कह दिया इस जगह से कोहली को कोई हिला नहीं सकता। जाफर का यह भी मानना है कि जब विराट अपने फॉर्म में लौटेंगे तो और बेहतर तरीके से खेलेंगे। कोहली लंबे समय से खराब फॉर्म से गुजर रहे हैं और नवंबर २०१९ के बाद से कोई अंतरराष्ट्रीय शतक नहीं बनाया है। इंग्लैंड के दौरे में कोहली एक अर्धशतक भी नहीं बना सके और कैरिबियन के लिए चल रही सफेद  गेंद की सीरीज का हिस्सा नहीं हैं। साथ ही जिम्बाब्वे के खिलाफ आगामी वनडे सीरीज के लिए भी उपलब्ध नहीं है।
स्पेशल बनी मैच की देरी
क्रिकेट इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ जब मैच शुरू होने में देरी की अनोखी, अजीब और हैरान करनेवाली घटना घटित हुई। बारिश हुई, बिजली न हो जैसे कारणों से मैच में देरी अवश्य हुई है, मगर जो टीम इंडिया बनाम वेस्टइंडीज के बीच दूसरे टी-२० में हुआ वो तो कमाल का कारण बन गया। उसे क्रिकेट बुक में व्हेरी स्पेशल वाली देरी के नाम से दर्ज किया गया। दरअसल, सेंट किट्स के जिस मैदान में दोनों टीमों का मैच होना था, वहां खिलाड़ियों का सामान ही नहीं पहुंचा था बल्कि खिलाड़ी पहुंच गए थे। सभी प्लेयर्स का सामान त्रिनिदाद से यहां पहुंचना था, लेकिन किसी वजह से इसमें देरी हो गई। दोनों टीमों का पहला मैच त्रिनिदाद में ही खेला गया था। वैसे, यह टी-२० ही नहीं, बल्कि क्रिकेट के इतिहास में ऐसी पहली घटना है, जब मैच खिलाड़ियों का सामान न पहुंचने की वजह से टाइम पर शुरू नहीं हो पाया है। है न अजीब घटना।
ड्रॉ का दर्द
हॉकी विश्व में वर्तमान दौर िंहदुस्थान के लिए एक बार फिर उत्थान का है किंतु ऐसे मैच उसके हौसले पस्त कर देते हैं जिनमें जीत एकदम तय होती है और वो अंत में ड्रा में तब्दील हो जाता है। दरअसल इसका अर्थ ये है कि टीम में अभी भी कमजोर कड़ी है जो लगभग तय जीत को भी बरकरार नहीं रख पा रही है। अब देखिए न इस ड्रा का दर्द ये है कि टीम इंडियन हॉकी ने कॉमनवेल्थ गेम्स की पुरुष हॉकी के पूल बी में आखिरी क्वॉर्टर में खराब प्रदर्शन से जीत को हाथ से निकलते देखा। इससे इंग्लैंड मैच ४-४ से ड्रा कराने में सफल हो गई। इंग्लैंड की टीम एक समय १-४ से पिछड़ी हुई थी पर उन्होंने आखिरी क्वॉर्टर में शानदार प्रदर्शन करके मैच का रुख एकदम से बदल दिया। अंतिम कुछ मिनट में तो िंहदुस्थान पर हार का खतरा मंडराता नजर आया। पर टीम इंडिया किसी तरह मैच ड्रॉ कराकर अंक बांटने में सफल हो गई। पहले तीन क्वॉर्टर तक जो टीम ३ गोलों से बढ़त पर हो उसका जीतना लगभग निश्चित हो जाता है मगर आखिरी क्षणों में ही ढीले पड़ जाना हिंदुस्थानी टीम की पुरानी आदत है और इसी वजह से वो अंग्रेजो को हरा न सकी।

(लेखक सम सामयिक विषयों के टिप्पणीकर्ता हैं। ३ दशकों से पत्रकारिता में सक्रिय हैं व दूरदर्शन धारावाहिक तथा डाक्यूमेंट्री लेखन के साथ इनकी तमाम ऑडियो बुक्स भी रिलीज हो चुकी हैं।)

अन्य समाचार