मुख्यपृष्ठनए समाचारजिस सत्ता से डर लगे उसे उखाड़ फेंको! ... उद्धव ठाकरे की...

जिस सत्ता से डर लगे उसे उखाड़ फेंको! … उद्धव ठाकरे की गर्जना

सामना संवाददाता / मुंबई
सत्ता में आम लोगों को भी अपनापन लगना चाहिए। सत्ता से डरोगे तो कोई फायदा नहीं। जिस सत्ता से भय लग रहा हो, उसे उखाड़ फेंकना चाहिए। शिवसेनापक्षप्रमुख उद्धव ठाकरे ने कल इस तरह की जोरदार गर्जना की।
जलगांव और पाचोरा में भाजपा के साथ ही ‘घाती’ गुट के कार्यकर्ताओं ने कल ‘मातोश्री’ निवास स्थान पर उद्धव ठाकरे की उपस्थिति में शिवसेना में प्रवेश किया। उद्धव ठाकरे ने इस दौरान उनका मार्गदर्शन भी किया। उन्होंने कहा कि सत्ता हर आम व्यक्ति को अपनी लगनी चाहिए। जिस सत्ता का भय लगता है, उसे बदलने के अलावा कोई विकल्प नहीं है और उसे बदलना ही चाहिए। उसी जिद से हम काम कर रहे हैं और इस काम में आज से आप भी सहभागी हो गए हैं। मैं आपका स्वागत करता हूं, ऐसा उद्धव ठाकरे ने कहा। इस दौरान शिवसेना नेता व सांसद संजय राऊत भी उपस्थित थे। पाचोरा में शिवसेना की पदाधिकारी वैशाली पाटील भी इस दौरान उपस्थित थीं। उद्धव ठाकरे ने उनकी सराहना की। उद्धव ठाकरे ने कहा कि पाचोरा के आर. ओ. तात्या पाटील एक कट्टर कार्यकर्ता और शिवसेना के मजबूत आधार थे। उनका निधन सभी के लिए एक सदमा था, लेकिन उस सदमे के बाद भी वैशाली पाटील ने तात्या के कार्यों को पूर्ण करने का संकल्प लिया। वे इस संबंध में कदम उठा रही हैं।
नया साल सभी के लिए आनंददायी, समृद्धि और लोकतांत्रिक हो!
उद्धव ठाकरे ने इस दौरान सभी को नए साल की शुभकामनाएं भी दी। उन्होंने कहा कि आनेवाला नया साल और आगे के सभी साल देश के लिए आनंदमय, उत्साहमय, समृद्धि और लोकतांत्रिक हो।

अन्य समाचार