मुख्यपृष्ठविश्वकराची विस्फोट पर बोला चीन .... नागरिकों की हिफाजत करे पाकिस्तान

कराची विस्फोट पर बोला चीन …. नागरिकों की हिफाजत करे पाकिस्तान

एजेंसी / कराची । कराची यूनिवर्सिटी के कन्फ्यूशियस सेंटर में हुए बम विस्फोट में अपने तीन नागरिकों के मारे जाने के बाद चीन बौखला गया है। धमकी भरे लहजे में पाकिस्तान को चेतावनी देते हुए कहा कि पाक में चीनी संस्थानों, नागरिकों और प्रोजेक्ट्स की सुरक्षा के सभी कदम उठाए जाएं और यह सुनिश्चित किया जाए कि दोबारा ऐसा न हो। चीनी दूतावास ने इस चरमपंथी घटना की कड़ी निंदा की है और घायलों के पूरे इलाज की व्यवस्था करने को कहा है। डरे-सहमे पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ ने इस घटना पर दुख जताते हुए विस्फोट के तुरंत बाद ही वो चीनी दूतावास पहुंचे और मारे गए चीनी नागरिकों के परिवारवालों के प्रति संवेदना जताते हुए उन्होंने इसे आतंकवाद की कायराना हरकत करार दिया। बता दें कि कराची यूनिवर्सिटी में मंगलवार को एक बम विस्फोट में तीन चीनी टीचरों की मौत हो गई थी। बम विस्फोट फॉरेन पैâकल्टी से कंफ्यूशियस सेंटर की ओर आ रही एक वैन में हुआ था। इसमें सेंटर के नवनियुक्त डायरेक्टर और दो टीचरों की मौत हो गई थी। रिपोर्ट में घटना के संबंध में पाकिस्तानी अखबार का हवाला दिया गया है। खबर में पाकिस्तान के काउंटर टेररिज्म डिपार्टमेंट के अधिकारी रजा उमर खट्टाब के हवाले से कहा गया है कि यह आत्मघाती हमला था।
बुर्काधारी महिला ने दिया था अंजाम
पाकिस्तान की कराची यूनिवर्सिटी में हुए हमले में नया ट्रेंड सामने आया है। इस घटना को एक बुर्काधारी महिला ने अंजाम दिया है, जो चीनी नागरिकों की बस का इंतजार कर रही थी और उसके पास आते ही खुद को बम से उड़ा लिया। इसकी चपेट में आने पर बस में आग लग गई और इसमें तीन चीनी नागरिकों समेत ४ लोगों की मौत हो गई थी। मृतकों में बस का चालक भी शामिल है। इस बीच कराची में बम धमाके की सीसीटीवी फुटेज भी सामने आ गई है।
बलूच लिबरेशन आर्मी ने ली है जिम्मेदारी
इस हमले की जिम्मेदारी बलूच लिबरेशन आर्मी ने ली है, जो विद्रोही समूह और पाक की सरकार पर अत्याचार का आरोप लगाती रही है। इससे पहले भी बलूच लिबरेशन आर्मी ने पाक में अटैक किए हैं। इस हमले ने पाक और चीन के संबंधों को लेकर भी सवाल खड़े कर दिए हैं। यह चौथा मौका है, जब पाक में चीनी नागरिकों पर हमला हुआ है।

 

अन्य समाचार