मुख्यपृष्ठसमाचारकैदियों का नया ठिकाना पालघर!

कैदियों का नया ठिकाना पालघर!

नागेंद्र शुक्ला / मुंबई

महाराष्ट्र के मुंबई में बना आर्थर रोड, ठाणे, पुणे के यरवडा और नई मुंबई के तलोजा जेल को सुरक्षित जेलों में गिना जाता है। अब पालघर जिले में एक जेल बन रहा है। बता दें कि वैâदियों का नया ठिकाना पालघर में बनने वाला है। इस जेल में अत्याधुनिक सुविधाएं होंगी।
मिली जानकारी के मुताबिक, तिहाड़ जेल से भी एडवांस और सुरक्षा के लिहाज से बेहतरीन जेल का निर्माण हो रहा है। इसके पहले चरण का काम जिले के उमरोली में जल्द ही शुरू किया जाएगा। तकरीबन २५ एकड़ में बनने वाले जेल में १,५००से २,००० कैदियों को रखने की व्यवस्था होगी। जेल का डिजायन अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में मौजूद सेलुलर जेल से प्रेरित हो सकता है। इस जेल में कैदियों की सुविधा हेतु अस्पताल, पुरुषों और महिलाओं के लिए अलग-अलग सेल होंगे। इसके अलावा खूंखार वैâदियों और आतंकवादियों को रखने के लिए अलग से सेल का निर्माण भी किया जाएगा। ठाणे जेल की तरह काला पानी बैरक के निर्माण की भी संभावना है।
८.० मीटर की ऊंचाई वाले कंपाउंड वॉल (दीवार) का निर्माण होगा। इस जेल की इमारत में सुरक्षा गार्ड के अलावा तीसरी आंख यानी सीसीटीवी भी वैâदियों पर नजर रखेंगे। इस जेल में मोबाइल को इनएक्टिवेट करने हेतु इन बिल्ट जैमर्स, मोबाइल ड्रग्स आदि फेंकने से रोकने के लिए ऊंची और फेंसिंग दीवारें, एक्सरे बैगेज स्वैâनर, डोर प्रâेम मेटल डिटेक्टर, फुल बॉडी ह्यूमन स्वैâनर, वाहन स्वैâनिंग उपकरण, कंट्रोल रूम बॉडी वार्न वैâमरे भी लगाने की पूरी संभावना है।
लॉकिंग सिस्टम की होगी व्यवस्था
एक अधिकारी ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि जेल में एक लॉकिंग सिस्टम होगा, जो दंगों या अंदर लड़ाई की स्थिति में स्वचालित रूप से चालू हो जाएगा। इस जेल को बनाने के लिए बी. जी. शिर्के कंसट्रक्शन कंपनी को कांट्रैक्ट दिया गया है। ५४,६०३.३८ एस्कॉयर मीटर के इस जेल को १८ जनवरी २०२७ तक तैयार कर लिया जाएगा।

अन्य समाचार