मुख्यपृष्ठसमाचारमुश्किल में परमबीर, होंगे गिरफ्तार!.... जबरन वसूली, भ्रष्टाचार, रिश्वतखोरी की सीबीआई ने...

मुश्किल में परमबीर, होंगे गिरफ्तार!…. जबरन वसूली, भ्रष्टाचार, रिश्वतखोरी की सीबीआई ने शुरू की जांच

सामना संवाददाता / मुंबई । पूर्व पुलिस आयुक्त परमबीर सिंह की मुश्किलें बढ़ती नजर आ रही हैं। सीबीआई ने परमबीर सिंह के खिलाफ जबरन वसूली, रिश्वतखोरी और भ्रष्टाचार के तीन मामलों की जांच शुरू कर दी है। इस जांच में दो अन्य लोगों का भी नाम शामिल है। हाल ही में सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर सीबीआई ने परमबीर सिंह के खिलाफ मुंबई में दर्ज पांच केस अपने हाथ में लिए थे। प्रारंभिक जांच में सीबीआई ने परमबीर सिंह के साथ ही एक पूर्व अधिकारी को भी आरोपी बनाया है। अधिकारी को जांच एजेंसी ने एंटीलिया बम से जुड़ी धमकी मामले में गिरफ्तार किया था।
शिकायत के मुताबिक सामाजिक कार्यकर्ता राकेश अरोड़ा ने आरोप लगाया था कि परमबीर सिंह और उसके साथ के अधिकारी ठाणे में जुआ क्लब मालिकों से रिश्वत से जुड़े भ्रष्टाचार के मामले में शामिल थे। एक अन्य मामले में सीबीआई व्यवसायी जीतू नवलानी के साथ परमबीर सिंह से पूछताछ करेगी। आरोपों के मुताबिक परमबीर सिंह ने जीतू नवलानी के जरिए रियल एस्टेट में १,००० करोड़ रुपए से ज्यादा और दूसरे व्यवसायों में अवैध तरीकों से कई हजार करोड़ रुपए निवेश किए थे।
पद का किया दुरुपयोग
नवलानी वही शख्स है, जिसका नाम शिवसेना सांसद संजय राऊत ने हाल ही में एक प्रेस कॉन्प्रâेंस में लिया था। राऊत ने आरोप लगाया था कि नवलानी कारोबारी समूहों से रंगदारी वसूलने में केंद्रीय जांच एजेंसी के अधिकारियों की मदद कर रहा है। तीसरी प्रारंभिक जांच परमबीर सिंह से जुड़े भ्रष्टाचार और पद के दुरुपयोग के मामले में है। आरोपों की पुष्टि करने के बाद यदि वे सही पाए जाते हैं तो सीबीआई प्रारंभिक जांच को एफआईआर में बदल सकती है। इसके बाद परमबीर सिंह की गिरफ्तारी भी हो सकती है।

अन्य समाचार