मुख्यपृष्ठनए समाचारपार्किंग का पंगा! ...एमएमआरडीए की मेट्रो २ए और ७ पर ई-साइकिल योजना...

पार्किंग का पंगा! …एमएमआरडीए की मेट्रो २ए और ७ पर ई-साइकिल योजना के लिए नहीं मिल रही जगह

३० स्टेशनों के नीचे सेवा शुरू करने की है तैयारी
यात्रियों को प्रति घंटे के हिसाब से देना होगा चार्ज
सामना संवाददाता / मुंबई
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पिछले सप्ताह दो नई मेट्रो लाइन २ए और ७ देश को समर्पित किया है। इन दोनों लाइनों का उद्घाटन कर नई मेट्रो ट्रेन सेवा की शुरुआत की गई। अब मुंबई मेट्रोपॉलिटन रीजन डेवलपमेंट अथॉरिटी (एमएमआरडीए) ने मेट्रो के अंतर्गत आनेवाले ३० स्टेशनों के नीचे ई-साइकिल सेवा शुरू करने की योजना बनाई है, जिसे मेट्रो के यात्रियों के आवागमन की सुविधा को ध्यान में रखकर तैयार किया गया है। आधिकरिक सूत्रों के अनुसार शुरुआत में लगभग २८० ई-साइकिल से होंगी। हालांकि, एमएमआरडीए की इस योजना में पार्किंग का पंगा सामने आ गया है। इस योजना अंतर्गत पार्विंâग बनाने के लिए जगह ही नहीं मिल रही है।
मेट्रो ७ और मेट्रो २ए को कवर करनेवाले ३० से ज्यादा स्टेशन हैं। हालांकि, इन सभी के पास इन ई-साइकिलों को पार्क करने के लिए पर्याप्त जगह नहीं है। इसके अलावा एमएमआरडीए ने बेस्ट से फीडर बस सेवाएं प्रदान करने की अपील भी की है। इससे पहले ई-साइकिल को पहले चरण में मेट्रो स्टेशनों के नीचे पहली बार २०२२ के मध्य जून में लॉन्च किया गया था, जिसे सार्वजनिक बाइक शेयरिंग परियोजना के रूप में नाम दिया गया था।
मेट्रोपॉलिटन आयुक्त एसवीआर श्रीनिवासन के मुताबिक, एमएमआरडीए यात्रियों की सुविधा के लिए ई-साइकिल की सेवा प्रदान कर रहा है। इस सेवा के अंतर्गत साइकिलें मेट्रो स्टेशनों से बाहर निकलने वाले यात्रियों को उनके आगे के आवागमन के लिए उपलब्ध कराई जाएंगी। हालांकि, यह ई-साइकिल मेट्रो ७ और मेट्रो २ए के सभी स्टेशनों पर चरणबद्ध तरीके से उपलब्ध कराई जाएंगी। शुरुआत में मेट्रो स्टेशनों के नीचे ७-१० ई-साइकिलें रखी जाएंगी, जो सब्सक्रिप्शन के आधार पर मिलेगी।
ऐप के माध्यम से किया जा सकेगा बुक
आधिकारिक सूत्रों के मुताबिक पहले चरण में करीब दो हजार से ज्यादा यात्री इस सेवा का लाभ ले रहे हैं, जबकि ३५० से ज्यादा यूजर्स ने लॉन्ग-टर्म सब्सक्रिप्शन प्लान का भी लाभ उठाया है। अब नेटवर्क पूरा हो जाने से सर्कल ज्यादा बढ़ गया है, इसलिए उम्मीद जताई जा रही है कि मेट्रो उपयोगकर्ताओं के अनुरूप इन सेवाओं का इस्तेमाल अधिक होगा। इन ई-साइकिलों को केवल उनके ऐप के माध्यम से बुक किया जा सकता है, जिसमें उपयोगकर्ता को नाम, मोबाइल फोन नंबर देना अनिवार्य होगा। साथ ही ई-साइकिलों का उपयोग करने के लिए उपयोगकर्ताओं को प्रतिघंटे के हिसाब से भुगतान करना होगा।

अन्य समाचार