मुख्यपृष्ठखबरें`ड्रोन महोत्सव' में पीएम की`फेकम फाक'! ड्रोन से पहले जंगल बढ़ाने के...

`ड्रोन महोत्सव’ में पीएम की`फेकम फाक’! ड्रोन से पहले जंगल बढ़ाने के लिए गैस के गुब्बारों में बीज भरकर पहाड़ों पर छुड़वाए थे

सामना संवाददाता / नई दिल्ली
दिल्ली के प्रगति मैदान में कल दो दिवसीय ड्रोन महोत्सव-२०२२ का प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उद्घाटन किया। इस दौरान उन्होंने प्रदर्शनी का भी निरीक्षण किया। इस महोत्सव में उन्होंने अपने संबोधन में ड्रोन के साथ अपना भी महिमामंडन किया। ड्रोन पर चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि इसकी वजह से वर्तमान समय में बहुत सारे काम आसान हो गए हैं। एक तरफ किसान इसका प्रयोग खेत में बीज डालने में कर रहे हैं तो दूसरी तरफ सेना सुरक्षा में भी इसका प्रयोग हो रहा है। इस दौरान पीएम मोदी का फेकम फेक भी जारी रहा। उन्होंने गुजरात के मुख्यमंत्री पद पर आसीन रहने के वक्त का किस्सा सुनाया। उन्होंने बताया कि गुजरात के जंगलों में बढ़ोतरी हो, इसके लिए हमने गैस के गुब्बारों में बीज भरकर पहाड़ों पर छुड़वाया था।
उन्होंने कार्यक्रम की तारीफ करते हुए कहा कि मैं ड्रोन प्रदर्शनी से प्रभावित हूं। २०३० तक हिंदुस्थान ड्रोन हब बनेगा। प्रधानमंत्री ने कहा कि यह उत्सव सिर्फ ड्रोन का नहीं, यह नए हिंदुस्थान का उत्सव है। ड्रोन टेक्नोलॉजी को लेकर हिंदुस्थान में जो उत्साह देखने को मिल रहा है, वो अद्भुत है। ये जो ऊर्जा नजर आ रही है, वो हिंदुस्थान में ड्रोन सर्विस और ड्रोन आधारित इंडस्ट्री की लंबी छलांग का प्रतिबिंब है। पीएम ने कहा कि यह ऊर्जा हिंदुस्थान में रोजगार सृजन के एक उभरते हुए बड़े सेक्टर की संभावनाएं दिखाती है।

खुद का महिमामंडन
प्रधानमंत्री मोदी इस दौरान खुद ही अपनी सरकार का महिमामंडन करना नहीं भूले। उन्होंने कहा कि पहले की सरकारों ने टेक्नोलॉजी को समस्या का हिस्सा समझा। उसे गरीब विरोधी साबित करने की कोशिश की गई। इस कारण २०१४ से पहले गवर्नेंस में टेक्नोलॉजी के उपयोग को लेकर उदासीनता का वातावरण रहा। इसका सबसे अधिक नुकसान गरीब को हुआ, वंचित को हुआ और मिडिल क्लास को हुआ। उन्होंने कहा कि तकनीकी के माध्यम से हम आगे बढ़कर अंत्योदय के लक्ष्य को प्राप्त कर सकते हैं।

हर सेक्टर में प्रयोग हो रहा ड्रोन
प्रधानमंत्री ने कहा कि ड्रोन का प्रयोग हर सेक्टर में किया जा रहा है। आज किसान भी ड्रोन का प्रयोग खेती में कर रहे हैं। उन्होंने कहा इसकी मदद से देश भर में विकास कार्यों का निरीक्षण किया जा रहा है। मैं देश भर में विकास कार्यों का ड्रोन की मदद से औचक निरीक्षण करता हूं। दो दिवसीय इस महोत्सव में सरकारी अधिकारियों, विदेशी राजनायिकों, सशस्त्र बलों, केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों, सार्वजनिक उपक्रमों, निजी कंपनियों और ड्रोन स्टार्टअप आदि सहित १,६०० से अधिक प्रतिनिधि भाग लेंगे।

अन्य समाचार