मुख्यपृष्ठनए समाचारपीएम को पब्लिसिटी की भूख... शिक्षा में भी ढूंढ़ ली सेल्फी!

पीएम को पब्लिसिटी की भूख… शिक्षा में भी ढूंढ़ ली सेल्फी!

-विश्वविद्यालयों में मोदी की फोटो संग बनेगा सेल्फी प्वाइंट

सामना संवाददाता / मुंबई

पीएम मोदी अपने प्रमोशन के लिए किसी भी हद तक जा सकते हैं। वे पब्लिसिटी के लिए कोई भी कसर बाकी नहीं छोड़ते। अब शिक्षण संस्थान भी उनके इस पब्लिसिटी स्टंट का शिकार होने लगे हैं। यूजीसी ने २०२४ के आम चुनावों के करीब आते ही देश भर के कॉलेजों और विश्वविद्यालयों को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तस्वीर के साथ एक सेल्फी पॉइंट स्थापित करने के लिए लिखा है।
बता दें कि यह पहली बार नहीं है, जब मोदी प्रचार के लिए ऐसा कर रहे हैं। इससे पहले भी मोदी ने सरकारी संस्थाओं का फायदा अपने उपयोग के लिए इस्तेमाल किया है। आपको याद ही होगा कि रेलवे का इस्तेमाल मोदी सरकार द्वारा खुद के भरपूर प्रमोशन के लिए किया गया है। रेलवे ने हर जोन के अलग-अलग स्टेशनों पर सेल्फी प्वाइंट बनाए थे। यूजीसी का पत्र ऐसे ही एक अन्य निर्देश के बाद आया है, जहां इसने महाराष्ट्र में उच्च शिक्षा संस्थानों से राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के नेता दत्ताजी डिडोलकर का जन्म शताब्दी वर्ष मनाने का आग्रह किया था। अपने पत्र में यूजीसी ने सुझाव दिया है कि विभिन्न वैंâपस के अधिकारियों को छात्रों और आगंतुकों को ‘विभिन्न क्षेत्रों में हिंदुस्थान की उपलब्धियों’ पर ‘सामूहिक गौरव’ की भावना पैदा करने के लिए इन पॉइंट्स पर सेल्फी लेने के लिए प्रोत्साहित करना चाहिए। यूजीसी सचिव मनीष जोशी का एक पत्र शुक्रवार को सभी विश्वविद्यालयों के कुलपतियों और सभी कॉलेजों के प्राचार्यों को भेजा गया है इसमें कहा गया है, ‘विभिन्न क्षेत्रों में हिंदुस्थान की प्रगति से ली गई प्रेरणा के साथ युवाओं के दिमाग को ढालने, उनकी ऊर्जा और उत्साह का उपयोग करने का एक अनूठा अवसर है।

अन्य समाचार