मुख्यपृष्ठसमाचारगुजरात में ‘जहरीली शराब’ का हो रहा है कारोबार... कौन दे रहा...

गुजरात में ‘जहरीली शराब’ का हो रहा है कारोबार… कौन दे रहा संरक्षण?

  • राहुल गांधी ने भाजपा सरकार को घेरा

सामना संवाददाता / बोटाद
गुजरात में ‘जहरीली शराब’ का बिक्री का मुद्दा गरमा गया है। राज्य के बोटाद जिले में जहरीली शराब पीने की वजह से ४२ लोगों ने दम तोड़ दिया, जिसके बाद अब गुजरात सरकार विपक्षी नेताओं के निशाने पर आ गई है। कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने इस घटना पर चिंता जाहिर करते हुए कहा कि जहरीली शराब पीने से कई घर उजड़ गए। राज्य में अरबों की ड्रग्स बरामद हो रही है ये बहुत चिंता की बात है। आखिर कौन सी ऐसी सत्ताधारी ताकतें हैं, जो इस नशे के कारोबारियों को बचाने की कोशिश कर रही हैं। राहुल गांधी ने ट्वीट कर लिखा, ‘ड्राई स्टेट गुजरात में जहरीली शराब पीने से कई घर उजड़ गए। वहां लगातार अरबों की ड्रग्स भी बरामद हो रही है। बापू और सरदार पटेल की धरती पर ये कौन लोग हैं, जो धड़ल्ले से नशे का कारोबार कर रहे हैं? इन माफियाओं को कौन सी सत्ताधारी ताकतें संरक्षण दे रही हैं?’। दरअसल, गुजरात में शराब बंदी लागू हैं, ऐसे में नकली शराब पीने से लोगों की मौत का मुद्दा विपक्ष के निशाने पर है।
‘गुजरात के सीएम को देना चाहिए इस्तीफा’
इससे पहले आम आदमी पार्टी के नेता संजय सिंह ने कहा था कि मासूम बच्चों को गुजरात की ज़हरीली शराब ने अनाथ बना दिया। क्या सदन में इनका मुद्दा उठाना गुनाह है? क्या गुजरात के मुख्यमंत्री को इस्तीफा नही देना चाहिए?’ आम आदमी पार्टी के ट्विटर हैंडल से कहा कि प्रधानमंत्री मोदी मन की बात तो खूब करते हैं, लेकिन जहरीली शराब पर चर्चा करने से क्यों भागते हो?

 

अन्य समाचार