मुख्यपृष्ठनए समाचारजहरीला जल! दूषित पानी पीने से केंद्रीय मंत्री के संसदीय क्षेत्र...

जहरीला जल! दूषित पानी पीने से केंद्रीय मंत्री के संसदीय क्षेत्र में दो की मौत, ४५ अस्पताल में भर्ती

सामना संवाददाता / दमोह
केंद्र में मोदी के नेतृत्ववाली भाजपाई सरकार की `हर घर नल’ इस महत्वाकांक्षी योजना की धज्जियां उनके अपने मंत्री के संसदीय क्षेत्र में उड़ रही हैं। अभी हाल ही में मध्य प्रदेश के दमोह में एक मामला सामने आया है। जहां दो लोगों की दूषित पानी पीने से मौत हो गई है। जबकि ४५ अन्य लोग दूषित पानी पीने से बीमार हैं जिन्हें उपचार के लिए नीजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। बता दें कि यह इलाका केंद्र सरकार के जलशक्ति राज्यमंत्री प्रह्लाद पटेल का संसदीय क्षेत्र है।
गौरतलब है कि प्रह्लाद पटेल, प्रधानमंत्री मोदी के `हर घर नल’ इस महत्वाकांक्षी योजना के लिए काम कर रहे हैं। इस योजना का मुख्य उद्देश्य ही यह है कि गांव के हर घर में नल द्वारा शुद्ध पीने का पानी मिले। ऐसे में मंत्री प्रह्लाद पटेल के मतदाता क्षेत्र के खंचारी पटी गांव में इस घटना का घटित होना बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है।
मिली जानकारी के अनुसार जिले के खंचारी पटी गांव में ४५ से ज्यादा लोग वुंâए का पानी पीने से बीमार हो गए। उल्टी-दस्त से परेशान लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां बुधवार को एक बुजुर्ग और एक महिला ने दम तोड़ दिया।
इस घटना की पीड़िता ने बताया कि पानी पीने से तबीयत खराब हुई उल्टी-दस्त हो रहे हैं, वहीं दो लोगों की मौत हो गई। एक अन्य पीड़ित ने बताया कि हम ६-७ लोग सीरियस हैं। सुबह उठे तभी से दस्त होने लगे।
बुधवार देर शाम जब खंचारी गांव में स्वास्थ्य विभाग की टीम पहुंची तो बड़ी तादाद में लोग बीमार मिले, उन्हें फिलहाल जिला अस्पताल के अलग वॉर्ड में भर्ती किया गया है।
बता दें कि दूषित पानी से मौत उस राज्य में हुई है, जहां हाल में ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुरहानपुर को १०० फीसदी नल जल से जुड़ा घोषित किया है। जहां ३०,६०० करोड़ रुपए से अधिक की नल जल योजनाएं स्वीकृत करने का दावा है। वहीं २ साल में ६,००० करोड़ रुपए खर्च कर ४० फीसदी घरों तक नल जल पहुंचाने की बात कही जा रही है। साथ ही ४,२७४ से अधिक गांवों के शत-प्रतिशत घरों में नल का जल पहुंचाने और ४८,७५,००० से अधिक घरों में नल कनेक्शन देने का भी दावा है।

अन्य समाचार