मुख्यपृष्ठनए समाचारदो बच्चों को बम से उड़ाने की धमकी देकर रंगदारी मांगने वाले...

दो बच्चों को बम से उड़ाने की धमकी देकर रंगदारी मांगने वाले अपहरणकर्ता को पुलिस ने किया गिरफ्तार

राधेश्याम सिंह / वसई 

अपहरण करके बच्चों को बम से उड़ाने की धमकी देकर रंगदारी मांगने वाले अपहरणकर्ताओं को नायगांव पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। नायगांव पुलिस ने अपहरण हुए बच्चों को सकुशल छुड़ाने व 5 घंटे में अपहरणकर्ताओं और रंगदारी मांगने वालों को गिरफ्तार कर लिया है। यह कार्रवाई डीसीपी पौणिमा चौगुले-श्रींगी व एसीपी पदमजा बडे के मार्गदर्शन में नायगांव पुलिस स्टेशन के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक रमेश भामे के नेतृत्व में अपराध जांच शाखा के सपोनि रोशन देवरे, गणेश केकाण, बलराम पालकर व पोउपनि. विष्णु वाघमोडे की टीम ने की है। पुलिस ने बताया कि शिकायतकर्ता दीपक कुमार हरिवंश गुप्ता को अपहरणकर्ता ने फोन किया, “मैंने तुम्हारी बेटी और बेटे का अपहरण कर लिया है। मैंने बच्चों के पेट पर बम रख दिए हैं, मेरे हाथ में रिमोट है, मैं उन्हें एक मिनट में मार डालूंगा।अगर आप उनकी सुरक्षा चाहते हैं तो जो पता मैं बताऊंगा उस पते पर 10 लाख रुपए ले आओ, तुम्हारे और तुम्हारे बच्चे दोनों बच जाएंगे’’ आवाज किसी अपहृत बच्चे की बताई जा रही है। पुलिस ने बताया कि शिकायतकर्ता दीपक कुमार हरिवंश गुप्ता ने अपनी बेटी उम्र 17 साल और बेटे उम्र 8 साल का अपहरण होने की जानकारी 23 दिसंबर को रात्रि 8 बजे नायगांव पुलिस स्टेशन को दी थी। पुलिस ने घटना को गंभीरता को देखते हुए वरिष्ठों ने तुरंत तीन सर्च टीमें गठित कीं, अपहरण बच्चों की तलाश के लिए तीनों टीमें तुरंत रवाना कर दी गईं। तकनीकी जांच और गोपीनाय खबरी के आधार पर अपहरण बच्चों की तलाश करते समय पता चला कि अपहरण बच्चे काशीगांव के मीनाक्षी नगर में एक कमरे में बंद हैं। नायगांव पुलिस स्टेशन की अपराध जांच शाखा की टीम ने 23 दिसंबर को रात 10 बजे के अपहरण बच्चों को खोजने में सफल व छुड़ाने में सफलता पाई है। पुलिस ने बताया कि अपहरण बच्चों को काशीगांव के मीनाक्षी नगर में एक कमरे में रखकर अपहरणकर्ताओं ने अपना ठिकाना छिपाया और शिकायतकर्ता से 10 लाख रुपए की फिरौती मांगी। अपहरणकर्ता उक्त फिरौती की रकम मांगने के लिए अलग-अलग मोबाइल नंबरों का उपयोग कर रहे थे। नायगांव पुलिस को अपहरणकर्ताओं के ठिकाने की जानकारी मिली पुलिस ने वाकीपाड़ा में टीम ने अपहरणकर्ताओं को पकड़ने के लिए नायगांव पुलिस ने भेष बदलकर मधुबन वसई पूर्व में विभिन्न स्थानों पर जाल बिछाया और अपहरणकर्ताओं को पकड़ने के दौरान अपहरणकर्ताओं ने भागने की कोशिश की, लेकिन पुलिस ने उन्हें पकड़कर गिरफ्तार कर लिया। अपहरणकर्ताओं को पकड़ने के दौरान अपहरणकर्ताओं और पुलिस कांस्टेबल अशोक पाटिल को मामूली चोटें आईं। अपहरणकर्ताओं को 24 दिसंबर को 1.00 बजे गिरफ्तार किया गया। नायगांव पुलिस स्टेशन में शिकायतकर्ता गुप्ता की शिकायत पर नायगांव थाने में कलम 363, 364(ए), 387, 342, 120 (बी) के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है। अपहरणकर्ताओं को कोर्ट ने 29 दिसंबर तक पुलिस हिरासत में भेज दिया है।आगे की तहकीकात एपीआई विनोद वाघ कर रहे हैं।

अन्य समाचार