मुख्यपृष्ठराजनीतिघोसी उपचुनाव में सपा समर्थक मतदाताओं को पुलिस मतदान में भाग न...

घोसी उपचुनाव में सपा समर्थक मतदाताओं को पुलिस मतदान में भाग न लेने की धमकी दे रही है-सपा

मनोज श्रीवास्तव / मऊ

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा है कि भाजपा शासन को दबाव में लेकर अपने चुनावी हितों की पूर्ति करती है। शासकीय मशीनरी से चुनाव को प्रभावित करती है। समाजवादी पार्टी निर्वाचन आयोग मांग करती है कि वह स्वतंत्र, पारदर्शी प्रक्रिया को अपनाए, जिससे लोकतंत्र की आस्था चुनाव आयोग की निष्पक्षता बनी रहे। शुक्रवार को पार्टी के राष्ट्रीय सचिव राजेंद्र चौधरी के नेतृत्व में एक प्रतिनिधिमंडल मुख्य निर्वाचन अधिकारी उत्तर प्रदेश लखनऊ को ज्ञापन दिया है।
ज्ञापन में कहा है कि घोसी विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र का उप निर्वाचन-2023 में प्रदेश की भाजपा सरकार एवं केंद्र सरकार के दो दर्जन से अधिक मंत्रीगण सरकारी वाहनों एवं सरकारी मशीनरी का दुरूपयोग कर रहे है। यह लोग मतदाताओं को भाजपा के पक्ष में मतदान करने के लिए दबाव बनाकर आदर्श आचार संहिता की धज्जियां उड़ा रहे हैं। राशन के कोटेदारों, सरकारी विभागों में ठेकेदारी करने वालों तथा व्यापारियों को बुलाकर सत्ताधारी दल के प्रत्याशी के पक्ष में मतदान करने के लिए अनुचित कार्य कर रहे हैं। बिजली विभाग के इंजीनियरों व अधिकारियों द्वारा सपा समर्थक मतदाताओं के घरों में जाकर बिजली चेंकिग की आड़ में भय पैदा करने का कार्य किया जा रहा है।
अतः भाजपा सरकार के मंत्रियों, नेताओं, पुलिस प्रशासन तथा बिजली विभाग के इंजीनियरों की कार्यशैली पर प्रभावी ढंग से रोक लगाने तथा आदर्श आचार संहिता का कड़ाई के साथ पालन करवाकर स्वतंत्र, निष्पक्ष, निर्भीक चुनाव सम्पन्न कराये जाने के की मांग की गई है। अल्पसंख्यक बाहुल्य आबादी की गलियों में जाकर पुलिस द्वारा घरों के सामने खड़ी बाईक, टैक्टर आदि को जबरन उठाकर पुलिस थाने में कस्टडी में किया जा रहा है। अल्प संख्यकों में डर का माहौल बनाया जा रहा है, जिससे कि वह मतदान में भाग न ले सकें।
चौधरी के अनुसार, यह गंभीर मामला संज्ञान में आया है कि घोसी विधानसभा उपनिर्वाचन क्षेत्र में 15 पुलिस उपनिरीक्षक व 83 हेड कांस्टेबल व कांस्टेबल तथा 50 महिला आरक्षियों की ड्यूटी 02 सितंबर से निर्वाचन संपंन होने तक के लिए लगाई गई है, जिसमें यादव और मुस्लिम नहीं हैं।
यह क्यों नहीं हैं? 15 पुलिस उपनिरीक्षक व 83 हेड कांस्टेबल 50 महिला आरक्षियों की यह सूची भाजपा सरकार के मंत्रियों, नेताओं के इशारे पर बनाई गई है। इससे मतदान के दिन मतदान का प्रतिशत कम करने की साजिश की जा रही है। भाजपा की कार्य शैली से चुनाव प्रभावित हो रहा है। घोसी विधानसभा क्षेत्र के कोपागंज थानाध्यक्ष अमित मिश्रा उत्पीड़न करके मतदाताओं को भयभीत कर रहे हैं। सपा समर्थक मतदाताओं से मतदान में भाग न लेने की हिदायत दे रहे हैं। पूर्व में ज्ञापन देने के बावजूद उन पर कोई कार्रवाई नहीं की गई है। इससे अमित मिश्रा का आतंक और बढ़ गया है। चुनाव काफी प्रभावित होता जा रहा है। यदि तत्काल कार्रवाई न की गई तो समाजवादी पार्टी चुप नहीं रहेगी।

अन्य समाचार