मुख्यपृष्ठटॉप समाचारविधान परिषद चुनावों में केंद्रीय जांच एजेंसियों का दबाव! कांग्रेस का सनसनीखेज...

विधान परिषद चुनावों में केंद्रीय जांच एजेंसियों का दबाव! कांग्रेस का सनसनीखेज आरोप

  • विधायकों को सीधे फोन
  • आंकड़ों का गणित महाविकास आघाड़ी के पक्ष में
  • आघाड़ी के सभी छह उम्मीदवार जीतेंगे

सामना संवाददाता / मुंबई
विपक्षी दलों को परेशान करने के लिए भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की केंद्र  सरकार केंद्रीय जांच एजेंसियों का दुरुपयोग कर रही है। विपक्ष की आवाज को दबाने और उन्हें डराने-धमकाने के लिए केंद्रीय जांच एजेंसियों का दुरुपयोग किया जा रहा है। हमारे पास पूरी जानकारी है कि महाराष्ट्र विधान परिषद चुनाव में विधायकों पर दबाव बनाने के लिए उन्हें सीधे फोन किए जा रहे हैं। यह सनसनीखेज आरोप प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष नाना पटोले ने मीडिया से बात करते हुए लगाया।
नाना पटोले ने आगे कहा कि केंद्र की भाजपा सरकार सीबीआई और ईडी को हथियार की तरह इस्तेमाल कर रही है, यह लोकतंत्र के लिए खतरनाक है। भाजपा ने सत्ता के लिए सारी हदें पार कर दी हैं। खबर फैलाई जा रही है कि महाविकास आघाड़ी में विवाद चल रहा है लेकिन वास्तव में विवाद आघाड़ी में नहीं बल्कि भाजपा में है। भाजपा विधान परिषद चुनाव में रोड़ा अटका रही है लेकिन संख्या का गणित महाविकास आघाड़ी के पक्ष में है। दूसरी सीट के लिए कांग्रेस को १२ वोट चाहिए जबकि पांचवें उम्मीदवार के लिए भाजपा को २२ वोट की जरूरत है। हालांकि भाजपा पैसे और केंद्रीय जांच एजेंसियों के दम पर जीत का दावा कर रही है। पटोले ने कहा कि महाविकास आघाड़ी मजबूत है और हमारे पास जीत के लिए पर्याप्त आंकड़े हैं। ऐसे में महाविकास आघाड़ीr के सभी छह उम्मीदवार जीतेंगे। दबाव!

अन्य समाचार