मुख्यपृष्ठनए समाचारगणेश मूर्तियों पर महंगाई की मार!

गणेश मूर्तियों पर महंगाई की मार!

  • डिमांड में पीओपी मूर्तियां!
  • मुल्तानी मिट्टी की मूर्तियां हुईं महंगी

सामना संवाददाता / ठाणे
कोरोना के बाद देशभर में महंगाई आसमान छू रही है। इसका असर गणेश प्रतिमा बनानेवालों पर भी पड़ रहा है। कच्चे माल की उच्च लागत, परिवहन लागत में वृद्धि और श्रमिकों की बढ़ी हुई मजदूरी के कारण इस वर्ष गणेश प्रतिमा की कीमत में १५ से २० प्रतिशत की वृद्धि हुई है। इसलिए, मूर्तिकारों का कहना है कि गणेश भक्त अधिक पीओपी मूर्तियों की मांग कर रहे हैं क्योंकि मुल्तानी मिट्टी की मूर्तियों अधिक महंगी हैं।
बता दें कि अगले दो महीनों में गणेशोत्सव आने के साथ ही गणेश प्रतिमा के कार्य ने गति पकड़ ली है। प्रतिमाएं बना ली गई हैं और उनकी पेंटिंग का काम शुरू हो गया है। बाप्पा का आगमन इस वर्ष थोड़ा जल्दी होगा, इसलिए गणेश भक्तों ने मूर्तियों की बुकिंग भी शुरू कर दी है। विभिन्न प्रकार की मूर्तियां बनाई जा रही हैं। जिसमें पीओपी, मुल्तानी मिट्टी की मूर्तियां, लाल मिट्टी की मूर्तियां जैसी अन्य मूर्तियां शामिल है। मूर्तिकार अरुण बोरितकर ने कहा कि लोग पीओपी मूर्तियां पसंद करते हैं क्योंकि ये मूर्तियां सस्ती होती हैं। मुल्तानी मिट्टी की मूर्तियां अधिक महंगी हैं। उन्होंने यह भी कहा कि गणेश भक्त पीओपी मूर्तियों को पसंद करते हैं क्योंकि वे संभालने में नाजुक होती हैं। मूर्तिकार प्रसाद वाडके ने कहा कि पीओपी मूर्तियों की खरीद बढ़ रही है क्योंकि इस साल लंबी मूर्तियां स्थापित की जाएंगी। पीओपी की मृतियां अन्य मूर्तियों की तुलना में सस्ती हैं।

पीओपी मूर्ति की कीमत
(रुपए में)
ऊंचाई पीओपी की. मुल्तानी की.
१५ इंच `२५०० `३०००
ढाई फीट `५००० `६०००
साढ़े ५ फ़ीट `३५०० ———

अन्य समाचार