मुख्यपृष्ठनए समाचारप्रोजेक्ट पड़ताल : धत् तेरी की.... प्रशासन के अधूरे काम ने बढ़ाई...

प्रोजेक्ट पड़ताल : धत् तेरी की…. प्रशासन के अधूरे काम ने बढ़ाई मुंबईकरों की परेशानी!

मध्य मुंबई के लोग बेहाल
कर रहे शिवड़ी से वरली-सी फेस ब्रिज का इंतजार

मुंबई
मुं बई से नई मुंबई को जोड़नेवाले और समुद्र के ऊपर भारत के बने सबसे लंबे ब्रिज का उद्घाटन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने १२ जनवरी को बहुत ही धूमधाम से किया और इसे मुंबई और नई मुंबई के लिए एक गेम चेंजर बताया गया। ब्रिज के उद्घाटन से लेकर अब तक ७ करोड़ रुपए की कमाई हो चुकी है और प्रतिदिन लगभग ३० हजार से अधिक वाहन इसका फायदा ले रहे हैं मुंबई से उलवे अब २० मिनट में आराम से पंहुचा जा रहा है, लेकिन अभी भी शिवड़ी से वरली सी-फेस तक बननेवाला ब्रिज और अटल सेतु को जोड़नेवाला ब्रिज का काम अधूरा ही है, जिसके कारण मध्य मुंबई और उपनगरों में रहनेवाला मुंबईकर अटल सेतु ब्रिज का फायदा नहीं उठा पा रहे है।
अटल सेतु की ग्राउंड रिपोर्ट
अटल सेतु से नई मुंबई जाने के लिए दक्षिण मुंबई से पी. डिमेलो रोड से ईस्टर्न एक्सप्रेस हाईवे जानेवाले ब्रिज से जाना पड़ता है और आगे चलकर शिवड़ी के पास से अटल सेतु ब्रिज पर जा सकते है, लेकिन मुंबई उपनगर और मध्य, मुंबई में रहनेवाले लोगों को अटल सेतु ब्रिज पर जाने के लिए काला चौकी से कॉटन ग्रीन, बीपीटी रोड होते हुए शिवड़ी जाना पड़ता है और वहां से अटल सेतु ब्रिज पर जाया जा सकता है। १६ किलोमीटर पर नई मुंबई के उलवे पर बाहर निकलने का रास्ता एयर टोल बूथ है। टोल बूथ अभी तक पूरी तरह नहीं बना है। टोल बूथ पर अभी तक कोई भी सुविधा उपलब्ध नहीं है।
शिवड़ी से वरली सी-फेस तक बननेवाले कनेक्टर ब्रिज की वर्तमान स्थिति जब तक शिवड़ी से वरली सी-फेस तक के फ्लाईओवर ब्रिज का काम पूरा नहीं होता, तब तक अटल सेतु ब्रिज पर जाने के लिए मुंबईकरों को एक लंबे चक्कर ही मारने पड़ेगे। शिवड़ी से वरली सी-फेस तक के ब्रिज का काम जल्द होने की उम्मीद नहीं है, क्योंकि इस ब्रिज को बनाने के लिए अभी भी ४०० से अधिक परिवारों को स्थलांतारित करने का काम पूरा नहीं हुआ। इन लोगों को स्थलांतरित करने के लिए पिछले साल मुंबई महानगरपालिका ने नोटिस जारी किया था, लेकिन अभी तक उसके आगे बात नहीं बढ़ी है। इसके अलावा प्रभादेवी रेलवे स्टेशन ब्रिज को तोड़कर नया ब्रिज भी बनाना है, जिसका काम अभी शुरू भी नहीं हुआ है। वरली सी-फेस की तरफ और शिवड़ी की तरफ पिलर डालने का काम चालू है। शिवडी-वरली से फेस कनेक्टर की कुल लंबाई ४ किलोमीटर है और इसका भूमिपूजन जनवरी २०२१ में किया गया था और इस प्रोजेक्ट को २०२४ अंत तक पूरा होना था। शिवडी-वरली से फेस कनेक्टर को बनाने का कॉन्ट्रैक्ट जे. कुमार इंप्रâा को दिया गया है। शिवडी-वरली सी-फेस कनेक्टर को बनाने का कुल खर्च १,२८६ करोड़ रुपए है। शिवड़ी-वरली सी-फेस कनेक्टर के वर्तमान काम की स्थिति को देखते हुए इसके जल्द पूरे होने की उम्मीद नहीं है और जब तक शिवड़ी-वरली सी-फेस कनेक्टर काम पूरा नहीं होता, तब तक मध्य मुंबई और उपनगरों में रहनेवाले लोगों को एक लंबा चक्कर लगाने के बाद अटल सेतु पर सफर कर सकते हैं।

 

अन्य समाचार