मुख्यपृष्ठनए समाचारहिंसा में १२ करोड़ की संपत्ति स्वाहा! ... १४१ मामले दर्ज, १६८...

हिंसा में १२ करोड़ की संपत्ति स्वाहा! … १४१ मामले दर्ज, १६८ गिरफ्तार

सामना संवाददाता / मुंबई
विगत कई दिनों से महाराष्ट्र में मराठा आरक्षण को लेकर जगह-जगह आंदोलन और प्रदर्शन हो रहे हैं। इस आंदोलन ने अब हिंसक रूप ले लिया है। इस दौरान राजनीतिक पार्टियों के कार्यालय को भी निशाना बनाया गया। हिंसक प्रदर्शन को देखते हुए अब तक महाराष्ट्र में १४० से अधिक मामले दर्ज किए गए हैं, जबकि १६८ लोगों को गिरफ्तार किया गया है। महाराष्ट्र के डीजीपी रजनीश सेठ ने बताया कि ‘मराठा आरक्षण को लेकर अलग-अलग जगहों पर आंदोलन हुए हैं। कुछ आंदोलन शांतिपूर्ण थे तो कुछ उपद्रवी थे। कई जगहों पर सार्वजनिक संपत्ति को भी नुकसान पहुंचाया गया है। छत्रपति संभाजीनगर में कुल ४ मामले दर्ज हुए हैं। १०६ लोगों को गिरफ्तार किया गया, इनमें से बीड़ के २० मामले हैं। पूरे महाराष्ट्र में १४१ मामले दर्ज हुए हैं। कुल १६८ लोगों को गिरफ्तार किया गया है। राज्य पुलिस के अधिकारी ने कहा कि कानून-व्यवस्था बिगाड़नेवालों पर सख्त कार्रवाई की जाएगी। पुलिस को निर्देश दे दिए गए हैं कि कानून-व्यवस्था बिगाड़ने की कोशिश करनेवालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाए। राज्य में मराठा आरक्षण की मांग पर हो रहे हिंसक प्रदर्शन को देखते हुए बुधवार को सर्वदलीय बैठक की गई, जिसमें सभी ने एकसाथ मनोज जरांगे से अनशन समाप्त करने की अपील की।
होमगार्ड के ७,००० जवान तैनात
डीजीपी ने बताया कि आईपीसी की धारा ३०७ के तहत ७ लोगों के खिलाफ मामले दर्ज किए गए हैं। छत्रपति संभाजीनगर ग्रामीण, जालना और बीड़ में इंटरनेट सुविधा बंद की गई है। डीजीपी रजनीश सेठ ने बताया कि एसआरपीएफ की १७ टुकड़ियों को तैनात किया गया है। इसके अलावा बीड़ में आरसीपी की एक टुकड़ी और ७,००० होम गार्ड तैनात किए गए हैं। हिंसक प्रदर्शन के दौरान १२ करोड़ की संपत्ति को नुकसान पहुंचाया गया है।

अन्य समाचार