मुख्यपृष्ठनए समाचारपांढुर्ना को जिला बनाने की घोषणा के बाद विरोध, सौंसर जिला बनाओ...

पांढुर्ना को जिला बनाने की घोषणा के बाद विरोध, सौंसर जिला बनाओ समिति ने अर्धनग्न होकर किया प्रदर्शन

इमरान खान / छिंदवाड़ा

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा पिछले दिनों सौंसर के प्रसिद्ध जामसांवली हनुमान मंदिर परिसर में पांढुर्णा को जिला बनाने की घोषणा का अब सौंसर में पुरजोर विरोध हो रहा है।
छिंदवाड़ा के सौंसर की आम जनता सड़क पर आकर सीएम शिवराज की घोषणा का विरोध कर रही है। सौंसर के लोगों का आरोप है कि पांढुर्ना को जिला बनाने की घोषणा का फरमान गलत है, जबकि सौंसर को जिला घोषित किया जाना चाहिए था। सौंसर जिला बनाओ अभियान समिति के द्वारा इसका पुरजोर विरोध किया जा रहा है। सौंसर नगर के गांधी चौक से समिति के सदस्यों द्वारा अर्धनग्न होकर रैली निकाली गई, जो नगर के छत्रपति शिवाजी महाराज चौक पहुंची, जहां सौंसर के बजाय पांढुर्ना को जिला बनाए जाने के विषय पर अपना मत व विसंगतियों को रखा।
वहीं सौसर के कुछ भाजपा नेता चाहकर भी इसका विरोध नहीं कर पा रहे हैं, जबकि कांग्रेस के वर्तमान विधायक विजय चौरे भी सौंसर की जनता की मांग के समर्थन में मैदान में उतर चुके हैं।
दरअसल, सीएम के छिंदवाड़ा जिले से अलग कर मराठी भाषी क्षेत्र पांढुर्णा को जिला बनाने के एलान और उसमें मराठी बाहुल्य सौंसर को शामिल करने की बात से यहां की जनता नाराज है। उनका कहना है कि सौंसर को अलग जिला बनाने की काफी पुरानी मांग रही है। सौंसर छिंदवाड़ा जिले का प्रमुख औद्योगिक क्षेत्र है और महाराष्ट्र की सीमा से लगा हुआ है।

अन्य समाचार

लालमलाल!