मुख्यपृष्ठसमाचारपवई के फिल्टर पाड़ा में गटर के खुले मेनहोल से जनता की जान...

पवई के फिल्टर पाड़ा में गटर के खुले मेनहोल से जनता की जान खतरे में

मुंबई की सड़कों पर एक भी गड्ढे नहीं रहेंगे।  मुख्यमंत्री के दावे के विपरीत शहर की सड़कों पर न सिर्फ गड्ढे हैं बल्कि कई जगह तो सड़क किनारे बने बड़े-बड़े गटर नागरिकों के लिए मौत का कुआं बनते जा रहे हैं।
इसी कड़ी में पवई के फिल्टर पाड़ा में आरे कॉलोनी रोड से फिल्टर पाड़ा चेक नाका तक सड़क निर्माण का कार्य जिस ठेकेदार को सौंपा गया है उस ठेकेदार और सेंट्रल एजेंसी के अधिकारियों के गैर जिम्मेदाराना व्यवहार से नागरिकों की जान खतरे में पड़ सकती है। ठेकेदार ने आरे चेक नाका से फिल्टर पाड़ा पठान वाडी तक सड़क बनाया है जिस पर छह जगह पर गटर के मेनहोल खुले हैं. कुछ जगह पर ठेकेदार ने गटर के खुले मेनहोल को सड़क पर लगाए जाने वाले लोहे के दिशा सूचक बोर्ड से ढक दिया है . गौरतलब है कि फिल्टर पाड़ा में करीब 1 लाख लोगों की जनसंख्या है और इसके आसपास तीन स्कूल है. बरसात के मौसम में कई नागरिक इस मेनहोल में गिरते-गिरते बचे हैं. स्थानीय नागरिकों का दावा है कि कई बार वाहन इन गड्ढों में गिरने से दुर्घटनाग्रस्त हो चुके हैं।   सेंट्रल इंजीनियर एजेंसी के सब इंजीनियर संकेत गावडे से इस संदर्भ में कई बार नागरिकों ने शिकायत की है लेकिन वह शिकायत को हर बार नजरअंदाज करते हैं. इस संवाददाता ने भी संकेत गावडे से संपर्क करने की बार-बार कोशिश की लेकिन उन्होंने फोन नहीं उठाया

अन्य समाचार