मुख्यपृष्ठनए समाचारएक ‘किस’ की सजा, एक साल कैद!...कोर्ट ने सुनाया फैसला

एक ‘किस’ की सजा, एक साल कैद!…कोर्ट ने सुनाया फैसला

•  रु. १० हजार का जुर्माना भी लगाया
•  लोकल ट्रेन में हुआ था लफड़ा
सामना संवाददाता / मुंबई । मुंबई की लाइफ लाइन कही जानेवाली लोकल ट्रेन में एक महिला से ‘किस’ करना एक आरोपी को महंगा पड़ गया। स्थानीय अदालत ने ३७ वर्षीय आरोपी को एक साल कठोर कारावास की सजा सुनाई है। इसके अलावा १० हजार रुपए का जुर्माना भी लगाया है। जुर्माने की रकम में महिला को पांच हजार रुपए देने का निर्देश कोर्ट ने दिया है। मेट्रोपॉलिटन मजिस्ट्रेट वी.पी. केदार ने पुलिस द्वारा जुटाए गए सबूत और गवाहों के बयान के आधार पर आरोपी को दोषी पाया है। आरोपी ने अपने बचाव में कहा कि उसने जानबूझकर नहीं किया था, बल्कि पास खड़े सहयात्री ने उसे धक्का दे दिया था। जिसके बाद वो सामने बैठी महिला के ऊपर गिर गया और उसके होंठ महिला के गाल को छू गए थे। लेकिन अदालत ने सारी दलीलों को खारिज कर दिया। अदालत ने कहा कि महिलाओं में सामनेवाले के इशारों और हरकतों को समझने की जन्मजात क्षमता होती है। वह छोटी बारीकियों को भी जल्दी पढ़ लेती हैं। इसलिए यह नहीं कहा जा सकता है कि ये आरोप अनजाने में हुई एक हरकत के खिलाफ लगाया गया है। पुलिस के मुताबिक वर्ष २०१५ में महिला अपने दोस्त के साथ हार्बर लाइन में ट्रेन से सफर कर रही थी। आरोपी महिला के सामनेवाली सीट पर बैठा था और महिला को लगातार निहार रहा था। लोकल ट्रेन में हुई इस घटना में महिला का एक दोस्त चश्मदीद गवाह बन गया और ट्रेन ने सफर करनेवाले कुछ यात्रियों के बयान के आधार पर अदालत ने आरोपी को कठोर कारावास की सजा सुनाई।

अन्य समाचार