मुख्यपृष्ठटॉप समाचारमनपा में अतिक्रमण करने वाले पालक मंत्रियों पर एफआईआर दर्ज क्यों नहीं?...

मनपा में अतिक्रमण करने वाले पालक मंत्रियों पर एफआईआर दर्ज क्यों नहीं? आदित्य ठाकरे का जोरदार हमला

सामना संवाददाता / मुंबई
महाराष्ट्र और मुंबई की जनता के लिए मैं लड़ रहा हूं। मुझ पर एफआईआर दर्ज कराने वाली मनपा पहले मनपा कार्यालय में अतिक्रमण करनेवाले पालक मंत्रियों पर मामला दर्ज कराए, ऐसा जोरदार हमला शिवसेना (उद्धव बालासाहेब ठाकरे) नेता, युवासेनाप्रमुख आदित्य ठाकरे ने शिवसेना से घात करनेवाले सीएम एकनाथ शिंदे के नेतृत्वाली ‘घाती’ सरकार पर बोला। मुंबई में तमाम घोटालों की फाइल पर हस्ताक्षर करनेवाले मनपा प्रशासक पर कर्रवाई कब होगी, उन्हें पदोन्नति चाहिए। दिल्ली जाना है तो उन्हें पदोन्नति दोगे क्या? ऐसा जोरदार सवाल भी उन्होंने पूछा।
डिलाइल पुल को खोलने के मामले में आदित्य ठाकरे पर एफआईआर दर्ज की गई है। इस संदर्भ में मातोश्री पर आयोजित प्रेस कॉन्प्रेंâस में वे बोल रहे थे। लोअर परेल स्थित डिलाइल रोड पुल का काम पूरा हो चुका है, लेकिन लगभग एक महीने के बाद भी मुख्यमंत्री को उस पुल के उद्घाटन के लिए समय नहीं मिल रहा है, जबकि लोगों को आवाजाही के लिए काफी समस्या हो रही थी। लोगों की मांग पर शुक्रवार को आम जनता के लिए स्थानीय विधायक आदित्य ठाकरे ने अपने समर्थकों के साथ पुल खोल दिया, जिसके बाद राजनीति तेज हो गई है। आदित्य ठाकरे पर मनपा ने दबाव में मामला दर्ज कराया है।

आदित्य ठाकरे पर एफआईआर
मुंबई। डिलाइल रोड पर काम पूरा होने के बाद भी मंत्रियों के इंतजार में रोड शुरू नहीं किया गया। आम नागरिकों की समस्याओं को देखते हुए शिवसेना नेता व विधायक आदित्य ठाकरे ने पुल का उद्घाटन करके रोड को शुरू कर दिया। ऐसे में अब एनएम जोशी मार्ग पुलिस ने आदित्य ठाकरे सहित, विधायक सुनील शिंदे और सचिन अहिर के खिलाफ आईपीसी की धारा १४३, १४९, ३२६ और ४४७ के तहत मामला दर्ज किया गया है।
शिवसेना नेता और वरली से विधायक आदित्य ठाकरे, मुंबई की पूर्व महापौर किशोरी पेडणेकर और स्नेहल अंबेकर के साथ-साथ विधायक सचिन अहिर और सुनील शिंदे ने गुरुवार देर रात लोअर परेल के डिलाइल ब्रिज पुल को आधिकारिक तौर पर आम नागरिकों के लिए खोल दिया, लेकिन मनपा प्रशासन ने जबरन ब्रिज खोलने के आरोप में आदित्य ठाकरे सहित अन्य नेताओं के खिलाफ एफआईआर दर्ज करा दी है।

 

अन्य समाचार

कुदरत

घरौंदा