मुख्यपृष्ठनए समाचार‘बिहार में ऐकनाथ शिंदे मॉडल नहीं चला तो छापेमारी शुरू हो गई’...

‘बिहार में ऐकनाथ शिंदे मॉडल नहीं चला तो छापेमारी शुरू हो गई’ …जेडीयू नेता केसी त्यागी का दावा

सामना संवाददाता / पटना
बिहार में फ्लोर टेस्ट से पहले ईडी और सीबीआई के छापे पड़ने पर जेडीयू नेता केसी त्यागी ने भाजपा पर आरोप लगाते हुए कहा कि ‘बिहार में ऐकनाथ शिंदे मॉडल नहीं चला तो छापेमारी शुरू हो गई।’ बिहार में कल बहुमत परीक्षण हुआ। इस बीच राज्य में आरजेडी के दो बड़े नेताओं के घर पर छापेमारी चल रही है। एमएलसी सुनील सिंह और राज्यसभा सांसद अशफाक करीम के घर पर सीबीआई ने छापेमारी की है। सुनील सिंह को लालू प्रसाद यादव के करीबी नेताओं में शुमार किया जाता है। यह एक्शन ऐसे वक्त में हुआ है, जब विधानसभा में नीतीश कुमार और तेजस्वी यादव की सरकार ने फ्लोर टेस्ट साबित किया है। आरजेडी के सांसद अशफाक करीम के घर पर भी छापेमारी की गई है। कहा यह भी जा रहा है कि सीबीआई ने राजद सांसद पैâयाज अहमद और पूर्व एमएलसी सुबोध राय के आवास पर भी रेड डाली है। हालांकि इसकी आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है। बिहार के अलावा झारखंड के खनन घोटाले को लेकर ईडी सक्रिय है। केंद्रीय एजेंसी ने सीएम हेमंत सोरेन के प्रतिनिधि और विधायक पंकज मिश्रा से पूछताछ के बाद छापेमारी की है। झारखंड की राजधानी रांची समेत कई ठिकानों पर ईडी ने एक साथ छापेमारी की है। अवैध खनन और उगाही के मामले में ईडी के ऐक्शन से झारखंड का सियासी पारा चढ़ गया है। ईडी ने प्रेम प्रकाश के ठिकानों पर भी छापेमारी की है, जिसने नेताओं से अच्छे संपर्क बताए जाते हैं। बिहार में आरजेडी ने छापेमारी को भाजपा की शरारत बताया है। आरजेडी ने कहा कि केंद्रीय एजेंसियां भाजपा की पार्टनर के तौर पर काम कर रही हैं।

‘शिंदे प्रयोग सिसोदिया ने फेल कर दिया’
• ‘आप’ नेता संजय सिंह का आरोप
‘आप’ के नेता संजय सिंह ने भाजपा पर बड़ा आरोप लगाते हुए कहा कि भाजपा का शिंदे प्रयोग दिल्ली में फेल हो गया। भाजपा ने उनकी पार्टी के ४ विधायकों को खरीदने की कोशिश की और बदले में उन्हें २०-२० करोड़ रुपए ऑफर भी किया और उनसे कहा गया कि यदि वह अपने साथ और विधायकों को ले आते हैं तो भाजपा उन्हें २५-२५ करोड़ रुपए देगी। आम आदमी पार्टी ने भाजपा पर बड़ा आरोप लगाते हुए कहा कि उसके ४ विधायकों को पाला बदलने के लिए ऑफर दिया था। साथ में ही भाजपा ने उन्हें धमकी देते हुए कहा था कि यदि ऐसा नहीं किया तो उन्हें झूठे मामलों में सीबीआई और ईडी का सामना करना पड़ेगा। ‘आप’ के राष्ट्रीय प्रवक्ता और राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने कहा कि विधायकों अजय दत्त, संजीव झा, सोमनाथ भारती और कुलदीप कुमार से भाजपा के नेताओं ने संपर्क किया है, जिनके साथ उनके मैत्रीपूर्ण संबंध हैं। संजय सिंह ने दावा किया कि महाराष्ट्र में एकनाथ शिंदे के मामले में प्रयोग कामयाब रहा और मनीष सिसोदिया के मामले में विफल हो गया और अब विधायकों को तोड़ने की कोशिश की जा रही है।

 

अन्य समाचार