मुख्यपृष्ठनए समाचाररेल सुरक्षा से समझौता! : गैंगमैन खा रहे थे ...

रेल सुरक्षा से समझौता! : गैंगमैन खा रहे थे ५०० में बिहार की हवा 

मुंबई में लग रही थी अटेंडेंस
लगी थी ३५ लाख यात्रियों की सुरक्षा दांव पर र की हवा

सुजीत गुप्ता / मुंबई
रेलवे ट्रैक की सुरक्षा ही लाखों रेल यात्रियों की सुरक्षा है लेकिन रेलवे के कुछ जिम्मेदार अधिकारी इससे खिलवाड़ कर ट्रैक की सुरक्षा और उसके रख-रखाव से समझौता कर रहे हैं। पश्चिम रेलवे में ट्रैक की सुरक्षा से जुड़ा बहुत ही गंभीर मामला सामने आया है। अंधेरी का सीनियर सेक्शन इंजीनियर महज ५०० रुपए में लाखों रेल यात्रियों की जान जोखिम में डालकर हर महीने मोटी कमाई कर रहा था, इसका खुलासा हाल ही में पश्चिम रेलवे विजिलेंस द्वारा की गई छापेमारी में हुआ है। दरअसल सीनियर सेक्शन इंजीनियर रेल पटरियों के रीढ़ की हड्डी कहे जानेवाले ट्रैकमेन के छुट्टी पर होने के बावजूद काम पर उपस्थिति (अटेंडेंस) दर्ज करवा कर पूरी पगार दिलवाता था और इसके एवज में प्रतिदिन ५०० रुपए के हिसाब से प्रत्येक ट्रैकमेन से हर महीने का हिसाब लेता था जबकि छुट्टी पर गए ट्रैकमेन ट्रैक की सुरक्षा से बेफिक्र होकर बिहार की हवा खा रहे थे। इसका खुलासा भी छुट्टी पर बिहार गए ट्रैकमेनों के मोबाइल लोकेशन से हो गया है। इस मामले में कुछ बड़े अधिकारी भी नप सकते हैं। क्योंकि पूछताछ में इस रैकेट की एक-एक कर परत खुल रही है।
इस रैकेट के सूत्रधार सीनियर सेक्शन इंजीनियर को रेलवे ने फिलहाल सस्पेंड कर दिया गया है। आरोपी को अक्टूबर २०२१ को दादर से ट्रांसफर होकर अंधेरी में सीनियर सेक्शन इंजीनियर की पोस्ट पर आए थे। अंधेरी में ट्रांसफर भी उनकी पसंद थी। जब से उन्होंने अंधेरी का चार्ज संभाला तब से उन्होंने इस रैकेट की नींव रखी थी।
अन्य गैंगमेनों पर आ रहा था काम का दवाब
अंधेरी सेक्शन में ट्रैक के रख-रखाव की जिम्मेदारी ३५० ट्रैकमेन के हवाले हैं जो विभिन्न शिफ्ट में अपना काम करते हैं, वर्तमान में देखा जाए तो ट्रैकमेन की ३५ फीसदी पोस्ट खाली हैं जबकि ३० फीसदी ट्रैकमैन को बिना ड्यूटी किए पगार देकर बिहार की हवा खिलाई जा रही थी। जिससे अन्य गैंगमेनों पर काम का दवाब बढ़ रहा था। इस मामले में २० से २५ ट्रैकमैन नपेंगे, ऐसी जानकारी भी सूत्रों के हवाले से मिल रही है। सीनियर सेक्शन इंजीनियर के अंतर्गत आने वाला अंधेरी सेक्शन माहिम से राम मंदिर तक आता है। इसमें जोगेश्वरी यार्ड का भी समावेश है।

अन्य समाचार