मुख्यपृष्ठनए समाचारकमाई के आगे रेलवे को नहीं है यात्रियों की चिंता! एसी लोकल...

कमाई के आगे रेलवे को नहीं है यात्रियों की चिंता! एसी लोकल की वजह से पहले से ही भीड़ का सामना कर रहे यात्री, अब सेंट्रल १० तो वेस्टर्न चलाएगी १७ नई एसी लोकल

सामना संवाददाता / मुंबई
एसी लोकल की वजह से पहले से ही सामान्य लोकल ट्रेनों में भीड़ का सामना कर रहे आम लोगों की तकलीफ सेंट्रल और वेस्टर्न रेलवे को नहीं दिखाई दे रही है। अब सेंट्रल और वेस्टर्न रेलवे ने और एसी लोकल ट्रेनों को चलाने का निर्णय लिया है। बताया जा रहा है कि यात्रियों की सुविधा के नाम पर पश्चिम रेलवे १७ तो सेंट्रल रेलवे १० नई एसी लोकल को पटरियों पर उतारेगी। इसके बाद पश्चिम रेलवे में कुल एसी लोकल ट्रेनों की संख्या ७९ से बढ़कर ९६ हो जाएगी। इसके अलावा, दहाणूू लोकल के यात्रियों की मांग को पूरा करने के लिए दहाणूू रोड-अंधेरी लोकल की एक जोड़ी ट्रेन को चर्चगेट स्टेशन तक विस्तारित किया जा रहा है।
क्या होगा लगेज और आम यात्रियों?
एसी ट्रेनों की बढ़ती संख्या के कारण लगेज और आम जनों की चिंता बढ़ती ही जा रही है। वजह भी साफ है की एसी ट्रेनों में लगेज को लेकर कोई उचित या अलग से डिब्बा नहीं दिया गया है। इसके अलावा एसी ट्रेनों का भाड़ा भी साधारण ट्रेनों से कई गुना अधिक है। इस वजह से आम नागरिकों द्वारा एसी ट्रेनों में यात्रा करने का विचार भी नहीं किया जाता है। जब किराया ही कई गुना ज्यादा होगा लोगों क्यों यात्रा करेंगे?
डिब्बेवालों ने उठाई लगेज डिब्बे की मांग
मुंबई डब्बावाला एसोसिएशन के मुख्य प्रवक्ता ने कहा कि हमें एसी लोकल से कोई दिक्कत नहीं है, पर ट्रेन में लगेज डिब्बा नहीं है। इस वजह से पीक  ऑवर में डिब्बेवालों को परेशानी का सामना करना पड़ता है। सिर्फ डिब्बेवाले ही नहीं बल्कि वो सभी लोग जो मुंबई में छोटे-मोटे व्यवसाय करते हैं और लोकल से ही सामान ले जाते हैं। हमारी मांग सिर्फ एसी लोकल में ही नहीं बल्कि मोनो और मेट्रो में भी लगेज डिब्बे होने चाहिए।

अन्य समाचार