मुख्यपृष्ठनए समाचार१०वीं की परीक्षा में अंकों की हुई बारिश... राज्य का रिजल्ट ९५.८१...

१०वीं की परीक्षा में अंकों की हुई बारिश… राज्य का रिजल्ट ९५.८१ फीसदी

सामना संवाददाता / मुंबई
पिछले कई सालों से १०वीं और १२वीं बोर्ड की परीक्षा में कोकण विभाग ने सर्वाधिक रिजल्ट लाने की परंपरा को कायम रखा है। १२वीं की तरह ही १०वीं में भी कोकण कन्याओं ने बाजी मारी है। इसके साथ ही प्रदेश में इस साल १०वीं के रिजल्ट में अंकों की बारिश हुई है। इस परीक्षा में ९५.८१ फीसदी छात्र सफल हुए हैं। इसके साथ ही राज्य का कुल रिजल्ट १.९८ फीसदी बढ़ा है। इस वर्ष परीक्षा में मेधावी छात्रों की संख्या भी अधिक है। प्रदेश में कुल १८७ छात्रों को शत- प्रतिशत अंक मिले हैं, जिसमें लातूर संभाग में १२३ छात्रों का समावेश हैं। दूसरी तरफ ९,३८२ स्कूलों का रिजल्ट शत-प्रतिशत लगा है, जिसमें मुंबई के १,५३३ स्कूलों का समावेश है। शिक्षा विभाग के मुताबिक सिंधुदुर्ग जिले का रिजल्ट राज्य में सबसे ज्यादा ९९.३५ फीसदी, जबकि वर्धा जिले का परिणाम सबसे कम ९२.०२ प्रतिशत रहा है।
उल्लेखनीय है कि १०वीं की परीक्षा में राज्य के १५ लाख ४९ हजार ३२६ छात्र परीक्षा में बैठे थे। इनमें से १४ लाख ८४ हजार ४४१ छात्र पास हुए हैं। इस साल के रिजल्ट में भी कोकण विभाग का रिजल्ट सबसे ज्यादा ९९.०१ फीसदी रहा है, जबकि सबसे कम नागपुर विभाग का रिजल्ट ९४.७३ फीसदी रहा है। हर बार की तरह इस साल भी रिजल्ट में लड़कियों का दबदबा न केवल कायम रहा, बल्कि लड़कियों का पास प्रतिशत लड़कों से २.६५ फीसदी ज्यादा रहा। घोषित हुए नतीजों में ९७.२१ फीसदी लड़कियां और ९४.५६ फीसदी लड़के परीक्षा में सफल हुए हैं।

लड़कों पर फिर भारी पड़ी लड़कियां
ठाणे, भिवंडी और कल्याण में भी रहीं अव्वल  
सामना संवाददाता / ठाणे 
शुक्रवार को १०वीं कक्षा की परीक्षा के परिणाम में एक बार फिर लड़कियां लड़कों पर भारी रहींr। इस साल के रिजल्ट में पिछले साल के मुकाबले बढ़ोत्तरी देखने को मिली है। पिछले साल ठाणे जिले का रिजल्ट ९३.६३ फीसदी था, जिसमें इस साल १.९३ फीसदी की वृद्धि के साथ जिले में ९५.५६ फीसदी विद्यार्थी उत्तीर्ण हुए है। इस वर्ष ठाणे से एक लाख १३ हजार ७३२ विद्यार्थियों ने प्रवेश लिया था। इनमें से १ लाख १३ हजार ४०३ परीक्षार्थी परीक्षा में शामिल हुए थे, जिसमें से एक लाख ०८ हजार ३७८ विद्यार्थी उत्तीर्ण हुए हैं। पालघर जिले का रिजल्ट ९६.०७ फीसदी रहा है। इस साल भी लड़कियों ने बाजी मारी है और जिले में ९६.९५ फीसदी लड़कियां पास हुई हैं। भिवंडी के स्कूलों का परीक्षा परिणाम ९२.०८ फीसदी रहा। इस परीक्षा में ग्लोबल इंटरनेशनल हाई स्कूल सहित तकरीबन १२ हाई स्कूलों का परिणाम शत प्रतिशत रहा है। वहीं कल्याण पूर्व के चेतना हाई स्कूल में नम्रता सिंह ९२.६० प्रतिशत, सागर कुमार मिश्रा ९२.६० प्रतिशत के साथ अव्वल रहे। कल्याण-पश्चिम जोशीबाग स्थित हिंदी हाई स्कूल का भी परीक्षा फल शत प्रतिशत रहा।

अन्य समाचार