मुख्यपृष्ठसमाचारसुनवाई में गायब रहे राणा दंपति! ... जमानत रद्द होने का संकट बरकरार

सुनवाई में गायब रहे राणा दंपति! … जमानत रद्द होने का संकट बरकरार

•  १५ जून तक सुनवाई स्थगित
सामना संवाददाता / मुंबई
अमरावती की निर्दलीय सांसद नवनीत राणा और उनके विधायक पति रवि राणा के जमानत उल्लंघन मामले की मुंबई सत्र न्यायालय में चल रही सुनवाई १५ जून तक के लिए स्थगित कर दी गई है। राणा दंपति अदालत में सुनवाई के दौरान गैरहाजिर रहे। फिलहाल कानून के जानकारों की मानें तो अदालत के आदेश का उल्लंघन करनेवाले राणा दंपति की जमानत रद्द होने का संकट बरकरार है।
मुंबई सत्र न्यायालय में कल हुई सुनवाई के दौरान राणा दंपति अदालत में उपस्थित नहीं हुआ। राणा दंपति के वकील रिजवान मर्चंट ने बताया कि नवनीत राणा इस समय दिल्ली में संसदीय कार्य में व्यस्त हैं, इसलिए मामले की सुनवाई के लिए वक्त दिया जाना चाहिए। इसी वजह से कोर्ट ने मामले की सुनवाई १५ जून तक के लिए स्थगित कर दी है। सरकारी वकील दीपक घरात ने कोर्ट को बताया कि राणा दंपति ने कोर्ट की शर्तों का उल्लंघन किया है। गौरतलब हो कि सत्र न्यायालय में नवनीत राणा और रवि राणा पर जमानती शर्तों का उल्लंघन करने पर इन दोनों को दी गई जमानत रद्द करने तथा फिर से दोनों को पुलिस कस्टडी में भेजे जाने के लिए राज्य सरकार ने आवेदन दिया था। हनुमान चालीसा पाठ को लेकर राणा दंपति को २३ अप्रैल को पुलिस ने राजद्रोह के आरोप में गिरफ्तार किया था। मुंबई सत्र न्यायालय ने इन दोनों को २ मई को सशर्त जमानत दी थी।
अदालत ने राणा दंपति को मीडिया से बात न करने की हिदायत दी थी। इसके बावजूद ८ मई को लीलावती अस्पताल से छुट्टी मिलने के बाद नवनीत राणा ने मीडिया के सामने मुख्यमंत्री पर टिप्पणी करते हुए चुनाव लड़ने की चुनौती दी थी। रवि राणा ने राज्य सरकार की भी आलोचना की थी। कोर्ट के आदेशों का उल्लंघन करने के आरोप में उन पर कार्रवाई की तलवार लटक रही है। उनकी जमानत रद्द हो सकती है।

अन्य समाचार