मुख्यपृष्ठनमस्ते सामनापाठकों की पाती : भाजपा की गंदी राजनीति

पाठकों की पाती : भाजपा की गंदी राजनीति

‘दोपहर का सामना’ अखबार में पेज-३ पर छपी खबर ‘५० खोकों का प्रलोभन’ वर्तमान में भाजपा द्वारा की जा रही गंदी राजनीति की ओर इशारा करती है। भाजपा ने पहले शिवसेना विधायकों को खरीदकर अपनी सत्ता बना ली, वहीं अब भाजपा ने राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के विधायकों को खरीदकर अपने मंत्रिमंडल का विस्तार किया है। इससे साफ हो जाता है कि भाजपा को जनता कितनी भी बार हरा ले, लेकिन भाजपा पैसों के बल पर अन्य पार्टियों के विधायकों को खरीदकर अपनी सत्ता स्थापित कर रही है। इस गंदी राजनीति को जल्द से जल्द खत्म करने की आवश्यकता है, क्योंकि ऐसा ही चलता रहा तो लोकतंत्र समाप्त हो जाएगा और तानाशाही का शासन चलता रहेगा। जनता को चाहिए वे वर्तमान में बने ‘इंडिया’ गठबंधन को अपना मत देकर भाजपा को भारी मतों से हराए। यदि इस बार भी भाजपा सत्ता में आती है तो लोकतंत्र की हार के साथ ही तानाशाही की जीत हो सकती है। इसलिए `इंडिया’ पार्टी को जिताने के लिए जनता को अपना महत्वपूर्ण मत इंडिया पार्टी को देना चाहिए।
-श्वेता शर्मा, ठाणे

भाजपा की पोलखोल
रविवार २४ सितंबर के दिन ‘दोपहर का सामना’ अखबार में छपी खबर ‘चार दिन की बारिश में डूबा नागपुर’ भाजपा के कंक्रीटीकरण विकास की पोल खोलने में सक्षम रही है। भाजपा निरंतर कहती रहती है कि उनके शासन में विकास तेजी से हो रहा है, लेकिन ४ घंटे की ही बारिश में नागपुर पूरी तरह से डूब गया। इसकी वजह से आम जनता को अनेक परेशानियों का सामना करना पड़ा, उनकी रोजी-रोटी भी पानी में बह गई। जिस प्रकार भाजपा कहती रहती है कि उनके शासनकाल में तेजी से विकास हुआ है, यदि यह सत्य होता तो नागपुर केवल ४ घंटे में ही बारिश में नहीं डूब जाता। नागपुर में आई बाढ़ इस बात का सबूत है कि भाजपा द्वारा दिया गया आश्वासन बिलकुल बेबुनियाद और खोखला है। इतना ही नहीं शिवसेना (उद्धव बालासाहेब ठाकरे) नेता व युवासेनाप्रमुख आदित्य ठाकरे ने ट्वीट कर भाजपा शासन को करारा जवाब दिया। उन्होंने अपने ट्वीट में कहा है कि केवल पेड़ों को काटने से विकास नहीं होता।
-गीतांजलि पाटील, ठाणे

अन्य समाचार