मुख्यपृष्ठनमस्ते सामनापाठकों की पाती : आनंद आश्रम हड़पने की साजिश!

पाठकों की पाती : आनंद आश्रम हड़पने की साजिश!

‘दोपहर का सामना’ के प्रथम पृष्ठ पर आनंद आश्रम से संबंधित एक खबर पढ़ी। इसमें बताया गया है कि शिंदे गुट आनंद आश्रम को हड़पने की साजिश रच रहा है। यह आरोप शिवसेना (उद्धव बालासाहेब ठाकरे) जिलाप्रमुख केदार दिघे ने लगाया है। केदार दिघे के अनुसार ठाणे टेंभी नाका स्थित ‘आनंद आश्रम’ एक श्रद्धा स्थल है। लेकिन शिंदे गुट के प्रवक्ता, नेता पैरों में चप्पल पहनकर वहां दिघे को प्रणाम करते नजर आते हैं। जबकि बाहर से जानेवाले लोग आनंद आश्रम की ओर देखते हैं और प्रणाम करते हैं। केदार दिघे ने इसी ‘आनंद आश्रम’ को शिंदे द्वारा हड़पने का आरोप लगाया है। यह सही बात है, ऐसा नहीं होना चाहिए।
– दिनेश गुप्ता, मुलुंड

सिर्फ बैनरबाजी पर पैसे बर्बाद मत करो!
शिवसेना (उद्धव बालासाहेब ठाकरे) नेता व युवासेना प्रमुख आदित्य ठाकरे ने घाती सरकार पर करारा तंज कसा है। उन्होंने कहा है कि अब बैनरबाजी बंद करो और काम पर ध्यान दो। ‘दोपहर का सामना’ ने उनके इस बयान को तवज्जो देते हुए लिखा है कि मुंबई सहित राज्यभर में विकास कार्यों की हवा निकल गई है। वहीं घाती सरकार का बैनरबाजी और पैसों की जोर-शोर से बर्बादी शुरू है। इसलिए बैनरबाजी और पैसों की बर्बादी बहुत हुई, अब काम के मुद्दों पर बातें करें। आदित्य ठाकरे के इस बयान से मैं भी सहमत हूं। इस सरकार को अब राज्य की मुख्य समस्याओं की ओर ध्यान देना चाहिए। सरकार महंगाई, अकाल, सड़क-पानी, बिजली की समस्या से जूझ रही जनता को राहत देने का काम करे।
– विश्वनाथ चतुर्वेदी, गोरेगांव

अन्य समाचार