मुख्यपृष्ठनमस्ते सामनापाठकों की पाती : हर दस साल में सरकार बदल जानी चाहिए 

पाठकों की पाती : हर दस साल में सरकार बदल जानी चाहिए 

कांग्रेस सांसद और पूर्व केंद्रीय मंत्री पी. चिदंबरम ने महंगाई, मूल्य वृद्धि और बेरोजगारी को लेकर केंद्र की भाजपा सरकार पर हमला बोला है। ‘दोपहर का सामना’ में प्रकाशित खबर के अनुसार, उन्होंने रामेश्वर में एक जनसभा को संबोधित करते हुए भाजपा को निशाना बनाया और कहा कि केंद्र की भाजपा सरकार दुविधा में है, इसे अब अलविदा कहना है। यह सरकार महंगाई को नियंत्रित नहीं कर सकती और नौकरी नहीं दिला सकती। उन्होंने यह भी कहा कि देश की अर्थव्यवस्था तो पीछे होती ही जा रही है, साथ ही सरकार रोजगार भी नहीं पैदा कर पा रही है। उन्होंने अपनी राय व्यक्त की है कि १० साल में एक बार सरकार बदलनी चाहिए। यह एक अच्छी बात है। मैं भी पी. चिदंबरम की बातों से सहमत हूं। एक ही सरकार रहती है तो बाद में मनमानी करने लगती है इसलिए सरकार बदलती रहे तो अच्छा होता है।
-गोविंद चौबे,  माहिम

महंगाई डायन खाए जात है
‘दोपहर का सामना’ में जनता से जुड़ी एक महत्वपूर्ण खबर प्रकाशित हुई है, जिसमें सरकार का एक और महंगाई बम के फूटने के बारे में बताया गया है। इसमें कहा गया है कि एलपीजी गैस की कीमतों में पिछले ८ सालों में १०० फीसदी से अधिक का इजाफा हुआ है। अब एक बार फिर कॉमर्शियल गैस सिलिंडर में २०९ रुपए की वृद्धि की बात सामने आई है। इस वृद्धि से आम आदमी की जेब पर बोझ बढ़नेवाला है। होटल रेस्टोरेंट, ढाबा में चाय से लेकर खाने पीने की चीज के दाम बढ़ जाएंगे। इस हिसाब से हवाई जहाज की उड़ान महंगी हो जाएगी। गौरतलब है कि जुलाई के बाद जेट फ्यूल की कीमत में लगातार चौथी दफा वृद्धि हुई है। एक रिपोर्ट के अनुसार, एलपीजी की कीमत में १०० फीसदी से अधिक का इजाफा हुआ है। यह महंगाई अब लोगों की कमर तोड़ देनेवाली है और त्योहारों के मौके पर इसकी वजह से हर चीज महंगी हो जाएगी। मेरा भी मानना है कि यह सरकार लगातार महंगाई बढ़ा रही है, इसलिए वक्त आ गया सबको एकजुट होने का और इस सरकार को बदलने का ताकि आनेवाला समय अच्छा बीते।
-शकील अहमद, अणुशक्ति नगर

अन्य समाचार