मुख्यपृष्ठखबरेंयूक्रेन पर हमले का १९वां दिन... शरणार्थियों से बढ़ा कोरोना का खतरा

यूक्रेन पर हमले का १९वां दिन… शरणार्थियों से बढ़ा कोरोना का खतरा

•  रूसी बमबारी में अब तक २,५०० की मौत
एजेंसी / कीव । रूस-यूक्रेन जंग को कब १९ दिन हो गए। यूक्रेन का दावा है कि दक्षिणी शहर मारियुपोल पर रूसी बमबारी से अब तक २,५०० से ज्यादा मौतें हुई हैं। राष्ट्रपति जेलेंस्की के सलाहकार ओलेक्सी एरेस्टोविच ने कहा कि मारियुपोल में हमारी सेना को कामयाबी मिल रही है। यूक्रेनी सेना ने रूसी सेना को हराकर अपने युद्ध बंदियों को आजाद करा लिया। इससे बौखलाकर रूसी सेना शहर में तबाही मचा रही है। दोनों देशों की वार-तकरार से यूरोप के देशों पर कोरोना का खतरा बढ़ गया है। अब तक २० लाख से ज्यादा यूक्रेनी शरणार्थी यूरोपीय देशों में पहुंचे हैं। इनमें से ज्यादातर का वैक्सीनेशन नहीं हुआ। यूक्रेन और आसपास के देशों में कोरोना के कुल ७९१,०२१ नए मामले सामने आए और ८,०१२ नई मौतें दर्ज की गई।
यूक्रेन के पश्चिमी इलाके में लड़ाई तेज
अब यूक्रेन के पश्चिमी इलाके में भी लड़ाई तेज हो गई है, जो अब तक सेफ हैवन बना हुआ था। रूसी सेना ने पोलैंड के बॉर्डर से महज १२ मील दूर यावोरिव में एक मिलिट्री ट्रेनिंग बेस पर क्रूज मिसाइलें दागकर ३५ लोगों को मार दिया, जबकि १३४ घायल हैं। रूस ने हमले में १८० विदेशी लड़ाकों को मारने का दावा किया है।
रूस ने चीन से मांगे मिलिट्री इक्विपमेंट
रिपोर्ट के मुताबिक रूस ने यूक्रेन में अपनी लड़ाई तेज करने के लिए चीन से मिलिट्री इक्विपमेंट मांगे हैं। अमेरिकी अधिकारियों के हवाले से रिपोर्ट में कहा गया है कि रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग से अतिरिक्त आर्थिक सहयोग भी मांगा है, ताकि अमेरिका, यूरोप व एशियाई देशों की तरफ से लगाए प्रतिबंधों से अपनी इकोनॉमी को बचा सके।
नाटो के दरवाजे तक जंग
रिपोर्ट के मुताबिक लीव शहर के करीब हमले का शिकार हुआ मिलिट्री बेस इंटरनेशनल पीस कीपिंग सेंटर था, जहां अमेरिकी सेना एक महीने पहले तक यूक्रेन के सैनिकों को ट्रेनिंग दे रही थी। रूस ने यहां ३० से ज्यादा क्रूज मिसाइल दागी हैं। यूक्रेन सरकार ने इसे आतंकी हमला बताया है और एक बार फिर नाटो से यूक्रेन को नो फ्लाई जोन घोषित करने की मांग की है। रूस के रक्षा मंत्रालय ने कहा कि उसने १८० विदेशी लड़ाके मारे हैं, जो यूक्रेन की तरफ से लड़ने आए थे। रूसी सेना ने यह हमला अपनी उस चेतावनी के एक दिन बाद किया है, जिसमें उसने यूक्रेन को अमेरिका व अन्य देशों से मिलने वाले हथियारों को निशाना बनाने की बात कही थी।

अन्य समाचार