मुख्यपृष्ठसमाचारपाक सेना के रिटायर्ड जवान बन रहे हैं आतंकवादी!

पाक सेना के रिटायर्ड जवान बन रहे हैं आतंकवादी!

-जम्मू-कश्मीर में कर रहे हैं हमला… आतंकी नहीं मिलने से बौखलाया पाकिस्तान

सामना संवाददाता / जम्मू

जम्मू-कश्मीर में शांति बनी रहे, पाकिस्तान को यह बात कभी रास नहीं आती। हिंदुस्थानी सेना द्वारा कई मोर्चों पर सख्त रुख अख्तियार करने के बाद अब पाकिस्तान को स्थानीय स्तर पर कोई भाव नहीं दे रहा है। पहले पाकिस्तान जम्मू-कश्मीर के भोले-भाले लोगों को बरगलाकर उन्हें आतंक की फैक्ट्री में भर्ती कर लेता था, लेकिन अब उसे यहां से आतंकी नहीं मिल रहे हैं। इसके बाद से वह बौखला गया है। अब खबर है कि पाकिस्तान आतंकी गतिविधियों को अंजाम देने के लिए नया पैंतरा आजमा रहा है। पाकिस्तान अब अपने सेवानिवृत्त सैनिकों को जम्मू-कश्मीर में दहशत फैलाने के लिए आतंकी बनाकर भेज रहा है और वे यहां आतंकी हमले कर रहे हैं।
सेवानिवृत्त सैनिक बनाए जा रहे आतंकवादी
इस बारे में सेना की उत्तरी कमान के आर्मी कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल उपेंद्र द्विवेदी ने कहा है कि प्रदेश में मारे गए कई विदेशी आतंकियों की पृष्ठभूमि की जांच के दौरान यह जानकारी मिली है कि वे सेना में काम कर चुके हैं। आर्मी कमांडर शुक्रवार सुबह जम्मू में सेना के बलिदानियों को श्रद्धासुमन अर्पित करने के बाद पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। उन्होंने कहा कि सेना प्रदेश में सक्रिय सभी आतंकियों को मार गिराएगी।
नागरिकों की मौत में ७५ फीसदी की कमी
आर्मी कमांडर ने कहा कि पाकिस्तान चाहता है कि यहां हमेशा अशांति बनी रहे और स्थानीय हमलों को अंजाम देते रहे, लेकिन अब स्थानीय स्तर पर भर्ती न के बराबर हो रही है। इसलिए पाकिस्तान को घुसपैठ का ही सहारा है। ऐसे में वह विदेशी आतंकियों को भेजने की कोशिशें कर रहा है। हम प्रदेश में सक्रिय सभी विदेशी आतंकियों को मार गिराएंगे। जम्मू-कश्मीर में नागरिकों की मौत में ७५ फीसदी तक कमी आई है। इस साल अभी तक ८१ आतंकी मारे जा चुके हैं।
पाकिस्तानी सेना ने तोड़ा मंदिर 
वहीं पाकिस्तानी सेना ने पीओके में स्थित पौराणिक धर्मस्थल शारदा पीठ की जमीन पर कब्जा कर लिया है। पाकिस्तानी सेना ने पहले से ही जीर्ण-शीर्ण हो चुके मंदिर की बाहरी दीवार को तोड़ कर कॉफी शॉप बनाई हुई है। जब स्थानीय लोगों ने इसका विरोध किया तो पाकिस्तानी सेना ने उनको प्रताड़ित किया।

अन्य समाचार