मुख्यपृष्ठनए समाचारखुलासा करो, नार्वेकर को किसने और क्या किया मार्गदर्शन? ... विपक्ष के...

खुलासा करो, नार्वेकर को किसने और क्या किया मार्गदर्शन? … विपक्ष के नेता दानवे ने दागा सवाल

सामना संवाददाता / मुंबई
विधान परिषद में विपक्ष के नेता अंबादास दानवे ने गद्दार विधायकों की अयोग्यता की सुनवाई को लेकर विधानसभा अध्यक्ष राहुल नार्वेकर पर जमकर निशाना साधा। नार्वेकर को बीच के दिनों में किसने निर्देशित किया और उन्हें क्या निर्देशित किया गया, इसकी जानकारी ली जानी चाहिए, ऐसा दानवे ने कहा। इसके साथ ही उन पर किसका दबाव है, ऐसा सवाल भी उन्होंने उपस्थित किया। उन्होंने कल नागपुर में पत्रकारों द्वारा पूछे गए सवाल के जवाब ने उक्त बातें कहीं।
अंबादास दानवे ने कहा, ‘विधानसभा अध्यक्ष राहुल नार्वेकर एक प्राधिकारी (न्यायाधिकरण) हैं। इसलिए उनसे केवल अयोग्यता अधिनियम की व्याख्या करने की अपेक्षा की जाती है, जो मतलब निकालना चाहे निकाले। व्याख्या हमारे पक्ष में रखें या हमारे खिलाफ रखें।’ हमारे पक्ष में अर्थ लगाओ, ऐसा मेरा मानना नहीं है।
अंबादास दानवे ने आगे कहा कि मुझे लगता है कि ऐसी परिस्थिति बन रही है कि उन्हें कानून की कसौटी पर ही फैसला देना होगा।
नार्वेकर अभी भी इसमें लगे हुए हैं कि कैसे समय पास किया जाए। अंबादास दानवे ने कहा, ‘हम परिणाम की तारीखों की घोषणा नहीं कर सकते, क्योंकि रिजल्ट की तारीखें अपने हाथ में नहीं हैं, लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने जल्द से जल्द फैसला सुनाने का निर्देश दिया। ११ मई २०२३ को यह फैसला आने के बाद अब सितंबर महीना खत्म हो गया है, लेकिन इस मामले की सुनवाई अभी तक शुरू नहीं हुई है। अध्यक्ष राहुल नार्वेकर अभी भी इसमें लगे हुए हैं कि किसी तरह भी इस प्रक्रिया को टाला जाए, इस मामले में राजनीति की जा रही है। अध्यक्ष पर किसी का दबाव है क्या? राहुल नार्वेकर ने सुनवाई से पहले इस दौरान किन-किन से मुलाकात की, क्या-क्या मार्गदर्शन लिया इसकी एक बार जानकारी लेनी चाहिए। वे कहते हैं कि हम पर दबाव डालते हैं, लेकिन उन पर दबाव किसका है? उन पर केंद्र के भाजपा नेताओं या राज्य के भाजपा नेताओं का दबाव है? वे किसके दबाव में काम कर रहे हैं, इसकी जानकारी आम जनता को पता चलनी चाहिए, ऐसा दानवे ने कहा।

अन्य समाचार